अपनी मर्दानगी को साबित करने के लिए इस जगह लड़कों को सहना पड़ता है ऐसा दर्द, जानकर रह जाएंगे हैरान

हमारे देश में बच्चे के जन्म से लेकर उसके जवान होने तक उसे कितने संस्कारों प्रथाओं से होकर गुजरना पड़ता हैं। उन प्रथाओं में बच्चे को बहुत सारे अच्छे आचरण की शिक्षा दी जाती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं। दुनिया का एक देश ऐसा भी हैं। जहां बच्चे को बड़ा होने तक न जाने कितनी परीक्षाएं देनी पड़ती हैं। इन सभी परीक्षाओं में उसके पास होने के बाद ही उसे व्यस्क समझा जाता है।

सतेरे-मो नामक जनजाति में लोगों को अपनी जवानी साबित करने के लिए बहुत सारी खतरनाक परीक्षाओं का सामना करना पड़ता हैं। ये परीक्षाएं ऐसी होती हैं जिनके बारें शायद ही कोई आम इंसान सोचता होगा। इस जनजाति के लोग व्यस्क होने वाले लड़के को कीड़े मकोड़ों से भरा एक दस्ताना पहनाते हैं बता दे ये कीड़े शरीर से चुपकते ही बहुत बुरा काटते हैं। इस दस्ताने को जो भी लड़का 10 मिनट तक लगातार पहना रहता हैं। उसे वहां के लोग व्यस्क मानने लगते हैं

वहीं पश्चिमी अफ्रीका की फुलानी जनजाति के लोग अपने आप को व्यस्क दिखाने के लिए अपनी बॉडी पर टैटू बनवाते हैं। बता दे यह परंपरा यहाँ की महिलाओं के लिए बनी हैं। जो महिलाएं अपने शरीर या फेस पर टैटू बनवाती हैं। वहां पर उन्हें व्यस्क माना जाता है।