अपने परेशान पार्टनर को इन टिप्स की मदद से करे खुश

किसी का भी समय कभी भी एक जैसी नहीं रहता। फिर चाहे बात व्यक्तिगत जीवन की हो या फिर प्रोफेशनल जीवन की। कभी आदमी शारीरिक रूप से दुखी रहता है तो कभी आर्थिक रूप से।कभी मानसिक अशांति से जूझ रहा होता है तो कभी सामाजिक परेशानियों से। ऐसे में उस आदमी को अच्छे सपोर्ट की आवश्यकता होती है। कई बार ऐसा होता है कि आपका पार्टनर career crisis से गुजरता है व उस समय उसे अंधेरा ही दिखाई देता है।

जब आपके पार्टनर के साथ ऐसा होता है तो न तो आपको व न ही आपके पार्टनर को समझ में आता है कि आप दोनों इस कठिन समय से बाहर कैसे निकल सकते हैं। यह आप दोनों के लिए एक बरा दौर होता है। वैसे career crisis कई रूप में सामने आ सकता है। इसका मतलब हमेशा जॉब छूटना नहीं होता है यह एक ऐसा समय भी होने कि सम्भावना है कि आपका पार्टनर dead-end नौकरी में खुद को फंसा हुआ पाए या फिर उसे अपनी जॉब, बॉस या वर्क एनवायरनमेंट से डील करना बहुत ज्यादा कठिन होता हो।

हालांकि आपके पार्टनर के लिए स्थिति कितनी भी बेकार क्यों न हो लेकिन आप उन्हें इस स्थिति से बाहर निकलने में मदद कर सकते हैं। कई बार पार्टनर के साथ career crisis होने पर लड़कियां बुरी तरह से परेशान हो जाती हैं व अपने पार्टनर पर सारा ब्लेम डाल देती हैं। ऐसे बुरे समय में आपको अपने पार्टनर की मदद करनी चाहिए। आइए आपको कुछ ऐसे ढंग बताते हैं जिसकी मदद से आप अपने पार्टनर को उसके बुरे वक्त में साथ दे सकती हैं।

खुद को रखें शांत
अगर आपके पार्टनर की नौकरी चली गई है या फिर वह किसी तरह के career crisis से गुजर रहे हैं तो ऐसे में सिर्फ उनका ही नहीं बल्कि आपका भी परेशान होना लाजमी है। ऐसे समय में अपने निगेटिव विचारों को कंट्रोल करें व खुद को और अपने पार्टनर को शांत रखने की प्रयास करें। इस स्थिति में अपने पार्टनर पर ब्लेम न लगाएं। साथ ही आप उनसे चर्चा करें कि वह इस स्थिति से कैसे बाहर निकल सकते हैं। उन्हें इस समय पूरा सपोर्ट देने की प्रयास करें।

बनें एक-दूसरे का सहारापति-पत्नी एक-दूसरे के पूरक होते हैं व हर कठिन घड़ी में वह एक-दूसरे के साथ मजबूती से खड़े होते हैं। लेकिन अगर आपका पार्टनर बुरे वक्त से गुजर रहा है तो यह महत्वपूर्ण है कि आप उसके बैकबोन बनें। यहां सपोर्ट देने का मतलब सिर्फ आर्थिक रूप से मदद करना ही नहीं है। इस हालत में आदमी भावनात्मक रूप से भी बहुत ज्यादा निर्बल हो जाता है व ऐसे में उसके मन में निगेटिव विचार आते हैं। इसलिए आर्थिक जिम्मेदारी उठाने के साथ-साथ आप अपने पार्टनर से जितना हो सके, सकारात्मक बातें करते रहें। उनमें पॉजिटिविटी भरते रहें। ऐसा करने से चीजें बहुत ज्यादा हद तक खुद-ब-खुद अच्छा होने लगेंगी।

समझदारी दिखाएं
पार्टनर के बुरे वक्त में आपको समझदारी दिखानी पड़ती है। यह एक पर्सनल संकट है इसलिए इस बारे में अपने दोस्तों या परिवार में बात करने से बचें। होने कि सम्भावना है कि ऐसा करने से आपका साथी शर्मिंदा महसूस करे। उसे व्यक्तिगत सपोर्ट दें व पॉजिटिव बाते करें।

जॉब सर्च में करें मदद
career crisis होने पर अपने साथी को यह बताने का कोशिश करें कि वह अकेले नहीं हैं। आप हर तरह से उनकी मदद करने के लिए उपस्थित हैं। उनका रिज्यूम तैयार करने में मदद करें। अगर आपका नेटवर्क मजबूत है तो उसकी मदद से आप अपने पार्टनर को जॉब ढूंढने में मदद कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त अगर किसी प्रोफेशनल डिग्री या शॉर्ट टर्म कोर्स करने के बाद उन्हें बेहतर नौकरी मिल सकती है, तो आप उन्हें वह करने के लिए प्रेरित करें।