आर्मी में कोई भी हो सकता है शामिल, फिर Govt जॉब में मिलेगा फायदा

आर्मी में कोई भी हो सकता है शामिल, फिर Govt जॉब में मिलेगा फायदा
भारतीय सेना एक ऐसे प्रस्ताव पर विचार कर रही है जिसमें युवाओं को तीन साल के लिए सेना में शामिल होने का मौका दिया जाएगा. इस प्रस्ताव का नाम ‘Tour Of Duty’  रखा गया है.
आर्मी में कोई भी हो सकता है शामिल, फिर Govt जॉब में मिलेगा फायदा
क्यों हुई  प्रस्ताव  की जरूरतसबसे पहले आपको बता दें, अभी प्रस्ताव को लागू नहीं किया गया है. ये प्रस्ताव तीन वर्ष की शॉर्ट सर्विस स्कीम के तौर पर रखा जा रहा है. जो सेना को अपना स्थायी पेशा नहीं बनाना चाहते हैं उनके लिए ये मौका अच्छा साबित हो सकता है.
3 साल के दौरान सेना का मुख्य उद्देश्य लोगों को सैन्य जीवन का अनुभव कराना है, ताकि देश के 1.3 मिलियन जवान युवाओं को ट्रेनिंग और सेना के बारे में कई प्रकार की जानकारी दे सके. इस दौरान युवाओं को सैलरी दी जाएगी, लेकिन वह पेंशन के हकदार नहीं होंगे.
आर्मी में कोई भी हो सकता है शामिल, फिर Govt जॉब में मिलेगा फायदा
टॉप मिलिट्री सोर्स ने कहा कि सेना अर्धसैनिक बलों और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के कर्मियों को सात साल तक की शॉर्ट सर्विस के लिए शामिल करने पर विचार कर रही है. सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने कहा, “अगर ये प्रस्ताव मंजूर किया जाता है तो चयन मानदंड में कोई कमी नहीं होगी. शुरुआत में, 100 ऑफिसर्स और 1,000 जवानों की भर्ती निकाली जाएगी. 
आर्मी में कोई भी हो सकता है शामिल, फिर Govt जॉब में मिलेगा फायदा
सूत्रों के अनुसार प्रस्ताव पर काम किया जा रहा है, उम्र और फिटनेस स्तर को जोड़ने के लिए’ ‘Tour of Duty (ToD) or ‘Three Years Short Service’ योजना के तहत भर्ती के प्रमुख मापदंड होंगे. बता दें, वर्तमान में, सेना 10 साल के शुरुआती कार्यकाल के लिए शॉर्ट सर्विस कमीशन के तहत युवाओं की भर्ती करती है, जो 14 साल तक बढ़ाई जा सकती है. इस प्रस्ताव के माध्यम से भारतीय सेना वित्तीय लाभ प्राप्त होगा, क्योंकि इससे ग्रेच्युटी, सैलरी, नकदीकरण और पेंशन में जाने वाली भारी धनराशि की बचत होगी. 
आर्मी में कोई भी हो सकता है शामिल, फिर Govt जॉब में मिलेगा फायदा
बता दें, शॉर्ट सर्विस कमिशन के जरिए सेना में भर्ती हुए अफसरों को रिटायर होने तक प्री-कमीशन ट्रेनिंग, वेतन और अन्य खर्च के तौर पर 10 साल में 5.12 करोड़, 14  साल में 6.83 करोड़ खर्च करने पड़ते हैं. जबकि तीन साल के लिए शामिल हुए लोगों पर भारतीय सेना का कुल खर्च 80 से 85 लाख रुपये का होगा.जो युवा तीन साल के सेना में अपनी सेवा दे चुके होंगे उन्हें कॉर्पोरेट और सरकारी क्षेत्र में नौकरी पाने में भी मदद मिलेगी.
बता दें, ऑफिसर और जवान के पद  पर भर्ती होने के लिए एक साल की ट्रेनिंग से गुजरना होगा, जिसके बाद ही तीन साल सेना में सेवा देने के लिए योग्य माने जाएंगे. 
आर्मी में कोई भी हो सकता है शामिल, फिर Govt जॉब में मिलेगा फायदा
प्रस्ताव में बताया गया है कि 17 साल तक सेवा देने वाले जवानों की जगह अगर ‘Tour Of Duty’ वाले जवान को लगाया जाए तो 11,000 करोड़ की बचत होगी. बची हुई धनराशि का इस्तेमाल भारतीय सशस्त्र बलों के आधुनिकीकरण के लिए उपयोग में किया जा सकता है.