इन राशि वाले जातक रहे सावधान, सूर्य ग्रहण के बाद होगा ये असर

Solar Eclipse: इन राशि वाले जातक रहे सावधान, सूर्य ग्रहण के बाद होगा ये असर

पौष माह के कृष्ण पक्ष की अमावस्या दिन गुरुवार 26 दिसंबर 2019 को लगने वाला सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) भारत में अधिकतम स्थानों पर दिखाई देगा। यह ग्रहण खंडग्रास सूर्यग्रहण के रूप में दिखाई देगा। दक्षिण भारत के कुछ स्थानों पर कंकण कृतिका सूर्य ग्रहण दिखाई देगा।

भारत के अलावा इस सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) को एशिया के कुछ देशों में जैसे सऊदी अरब, श्रीलंका, सिंगापुर, इंडोनेशिया, मलेशिया, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, ईरान, इराक, चीन, तिब्बत, भूटान, म्यांमार, जापान, अफ्रीका ऑस्ट्रेलिया में भी देखा जा सकेगा।

2 घंटे 52 मिनट रहेगा सूर्य ग्रहण
2 घंटे 52 मिनट अवधि वाला यह सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को सुबह 8 बजकर 11 मिनट पर प्रारंभ होगा जो कि दोपहर 11 बजकर 2 मिनट तक रहेगा। इसका मध्यकाल सुबह 9.30 बजे तक रहेगा। सूर्य ग्रहण का सूतक 12 घंटे पहले शुरू हो जाएगा। यानी 25 दिसंबर की रात 8.11 बजे कर सूर्य ग्रहण का सूतक प्रारंभ हो जाएगा।

इन राशियों के लिए अशुभ है सूर्य ग्रहण
ग्रहण के समय सूर्य, बुध, गुरु, शनि, चंद्र और केतु यह सभी एक साथ धनु राशि में विद्यमान होंगे। केतु के स्वामित्व वाले नक्षत्र मूल में यह ग्रहण होने जा रहा है। नवांश या मूल कुंडली में किसी भी प्रकार का कोई अनिष्ट योग नहीं होने से इस ग्रहण से प्रकृति में किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होगा। 26 दिसम्बर को लगने वाला साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 6 राशियों को विशेष प्रभावित करेगा, जबकि 5 राशि पर इसका मिश्रित और 3 राशि पर नकारात्मक असर दिखेगा।

जानें किस राशि की चमकेगी किस्मत और किसे करना पड़ेगा संघर्ष –
यह सूर्य ग्रहण इन 6 राशि वालों के लिए शुभ होगा। इस ग्रहण का वृषभ, कन्या, तुला, कर्क, कुंभ और मीन राशि पर सकारात्मक प्रभाव होगा। वहीं मेष, सिंह, मकर और मिथुन राशि पर सूर्य ग्रहण का मिश्रित लाभ मिलेगा। जबकि धनु और वृश्चिक राशि वालों के लिए अच्छे संकेत नहीं है। यानी यह सूर्य ग्रहण इन के जातकों के लिए अशुभ होगा।