उत्तरप्रदेश: पंचायत चुनावों को टाला जा सकता है, जानिए इस बारे में सरकार का पक्ष

LatestNews1:  वर्ष 2020 के अन्त में यानी की नवंबर दिसंबर में उत्तरप्रदेश राज्य में पंचायत के चुनाव होने थे लेकिन अब कोरोना के भयावह रूप को देखते हुए इन चुनावों को टाला जा सकता है। सरकार फिलहाल कोरोना महामारी से निपटने में लगी हुई है ऐसे में चुनाव कराना सरकार के लिए आसान नहीं होगा।

सूत्रों के अनुसार उत्तरप्रदेश के पंचायत चुनाव अगले 6 महीनों तक के लिए टाले जा सकते हैं। पंचायती राज विभाग के ही एक शीर्ष अधिकारी ने बताया है कि जब भी चुनाव आते हैं तो उनकी रूप रेखा तैयार करने के लिए 6 महीने पहले ही कार्ययोजना बनाना शुरू हो जाती है लेकिन इस बार ऐसा कुछ नहीं हो रहा है। सरकार चुनावों को टालने और अगले वर्ष मई-जून में कराने की योजना बना रही है।

हांलाकि पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा है कि वे इस मामले पर अभी कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते है हां यह सही है कि सरकार अभी कोरोना से निपटने में लगी हुई है और हमारे पास अभी पर्याप्त समय है। हम चुनावों को समय पर कराने के लिए पूरी कोशिश करेंगे।

सूत्रों ने यह भी बताया कि सरकार कोरोना से पहले इस बारे में चर्चा कर चुकी थी और परिसीमन का कार्य भी जारी कर दिया गया था लेकिन जैसे ही कोरोना महामारी का आगमन हुआ वह कार्य भी बीच में ही छूट गया। ऐसे में क्यास यही लगाए जा रहे हैं कि पंचायती चुनावों को सरकार 6 महीनें के लिए टाल सकती है। यदि ऐसा होता है तो ये चुनाव अगले वर्ष ही संभव हो पाएंगे।