एक ही दिन में 2 जवान बेटियों की मौत, एक की अर्थी जल नहीं पाई और दूसरी की आ गई मौत की खबर

सिलवासा (गुजरात). अगर सोचो किसी के घर में एक साथ दो जवान बेटियों की मौत हो जाए तो क्या होगा। ऐसी ही दर्दनाक घटना गुजरात के एक परिवार में हुई है। जहां दो सगी बहनों की 24 घंटों के अंदर मौत हो गई है। जिसने पूरे परिवार को हिलाकर रख रख दिया है।

अस्पताल में भर्ती थी दोनों बहनें
दरअसल,  26 नवंबर को दोनों बहनें मनीषा धोड़ी और छोटी बहन ममता धोड़ी बीमार हो गईं थी। उनको तेज बुखार आने पर घरवालों ने उन्हें विनोबा भावे सिविल सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन 27 नवंबर को बड़ी बहन मनीषा की तबीयत ज्यादा बिगड़ने लगी तो उसको दूसरी हॉस्पिटल ले जाया जा रहा था कि रास्ते में उसने दम तोड़ दिया।  

एक दिन में दोनों बहनों की मौत
घरवाले मनीषा का शव को लेकर अपने गांव आ गए और उसका अंतिम संस्कार करने लगे। लेकिन जैसे उन्होंने अपनी बड़ी बेटी की चिता चलाई थी कि अस्पताल से खबर आ गई की उनकी दूसरी की भी मौत हो गई। इसके बाद शाम को छोटी बेटी का अंतिम संस्कार किया। दोनों बहनों की मौत हो जाने के बाद परिवार पर मानो पहाड़ टूट पड़ा। डॉक्टर की जानकारी के मुताबिक, दोनों बहनों के डेंगू टेस्ट निगेटिव आए थे, लेकिन दोनों को वायरल फीवर था। वहीं दूसरी बताया जा रहा है कि वह दोनों सिकलसेल खून की बीमारी से पीड़ित थीं। अब सच जो भी हो, लेकिन ऐसे में अस्पताल पर सवाल खड़े तो होते हैं। क्योंकि परिजन बच्चियों की मौत की वजह डॉक्टर को बता रहे हैं।