ओडिशा में घर से भागी नाबालिग लड़की से 22 दिन तक हुआ सामूहिक बलात्कार : पुलिस

ओडिशा में घर से भागी नाबालिग लड़की से 22 दिन तक हुआ सामूहिक बलात्कार : पुलिस

ा-पिता के साथ कहासुनी होने पर घर से भागी 17-वर्षीय एक लड़की से ओडिशा के कटक में स्थित एक पोल्ट्री फार्म में 22 दिन तक कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया गया. पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी. पुलिस ने बताया कि पड़ोसी जगतसिंहपुर जिले की रहने वाली लड़की पिछले महीने अपने माता-पिता से कहासुनी होने बाद घर से भाग गई थी.

लड़की ने जिला बाल कल्याण समिति को बताया कि जब वह घर लौटने के लिये कटक में ओएमपी स्कवायर पर बस में सवार होने के लिये खड़ी थी, तभी एक व्यक्ति ने उसे अपनी मोटरसाइकिल से घर पहुंचाने की पेशकश की. पीड़िता ने बताया कि वह व्यक्ति उसे घर पहुंचाने के बजाय चौलीगंज पुलिस थाना क्षेत्र के गतीरौतपटना गांव स्थित पोल्ट्री फार्म ले गया। जहां उसे 22 दिन तक बंधक बना कर रखा गया. लड़की ने बताया कि फार्म में दो लोगों ने उससे बार-बार बलात्कार किया.

अधिकारियों ने बताया कि स्थानीय लोगों ने जब पुलिस को परिसर में कुछ संदिग्ध गतिविधि होने की सूचना दी, तब वहां छापा मारा गया. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और दूसरे आरोपी को पकड़ने की कोशिशें जारी है. कटक शहर के पुलिस उपायुक्त प्रतीक सिंह ने बताया, ‘‘आरोपी के फरार दोस्त को पकड़ने के लिये एक पुलिस टीम गठित की गई है.” उन्होंने बताया कि पीड़िता को जिला बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया, जहां से उसे एक अनाथालय भेज दिया गया. घटना के सिलसिले में बलात्कार और सामूहिक बलात्कार का एक मामला दर्ज किया गया है.

इस घटना को लेकर राज्य में विपक्षी भाजपा और कांग्रेस ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक नीत बीजद सरकार पर हमला बोला. भाजपा के प्रदेश महासचिव लेखश्री सामंतसिंघर ने नवीन पटनायक सरकार पर महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने में नाकाम रहने का आरोप लगाया. कांग्रेस प्रवक्ता निशिकांत मिश्रा ने कहा कि सामूहिक बलात्कार की घटना से यह प्रदर्शित होता है कि राज्य में महिलाएं कहीं से भी सुरक्षित नहीं हैं. उन्होंने पीड़िता के परिवार के लिये 25 लाख रुपये की सहायता राशि की मांग करते हुए घटना की अपराध शाखा से जांच कराने की मांग की.