केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए तैयार हो गई जदयू, रखी ये शर्त

बिहार और केंद्र की राजनीति को लेकर एक बड़ी खबर आ रही है. मोदी सरकार 2.0 के मंत्रिमंडल से खुद को अलग रखने वाली पार्टी जनता दल यूनाइटेड अब जल्द मंत्रिमंडल में शामिल हो  सकती है. इसको लेकर बुधवार को पार्टी के महासचिव केसी त्यागी ने संकेत दे दिया है. उन्होंने कहा है कि अगर संख्या के आधार पर हिस्सेदारी मिलती है तो केंदीय कैबिनेट में जरुर शामिल होंगे.

आपको बता दें कि बुधवार को बिहार के सीएम नीतीश कुमार की दिल्ली में ताजपोशी हुई. नीतीश कुमार दूसरी बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए गए हैं. इस अवसर पर दिल्ली में जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई. इसके बाद पार्टी के महासचिव केसी त्यागी, आरसीपी सिंह समेत कई नेताओं ने मीडिया को संबोधित किया. इस दौरान केसी त्यागी ने कहा कि अगर संख्या के आधार पर हिस्सेदारी मिलती है तो वो जदयू केन्द्रीय कैबिनेट में जरुर शामिल होगी.

इस दौरान जदयू नेता ने कहा कि 2015 में जब भाजपा और जदयू का गठबंधन हुआ था तब भी डेढ़ दो सालों तक हमारा कोई मंत्री नही बना था, और हमने इसकी मांग भी नहीं की थी. उन्होंने कहा कि बिहार में सबसे बड़ी पार्टी जदयू है, इसके बावजूद भी हमने बिहार में डिप्टी सीएम भाजपा से बनाया है, इसलिए हम चाहते हैं कि संख्या के आधार पर केंद्र में हमारी हिस्सेदारी तय हो.

गौरतलब है कि मोदी सरकार 2.0 के मंत्रिमंडल में शामिल होने से जदयू ने मना कर दिया था. मंत्रिमंडल में कम हिस्सेदारी मिलने से नाराज जदयू ने सीधे तौर पर कह दिया था कि वो सरकार को समर्थन करेंगे परन्तु मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होंगे. परन्तु अब जदयू ने इस बात का संकेत दे दिया है कि वो अब बहुत जल्द मोदी कैबिनेट में शामिल हो सकते हैं. केसी त्यागी ने कहा कि जदयू ने कभी मंत्री पद की मांग नहीं की. हम चाहते हैं कि समरसता, एकरूपता और बिहार के समन्यवय के लिए अगर जदयू को निमंत्रण मिलता है तो हम सहज रूप से तैयार हैं. संख्या के आधार पर भागीदारी मिलनी चाहिए.