कोरोनावायरस: नर्स हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाती रही, लेकिन मकान मालिक नहीं पसीजा, फेंक दिया सामान

 कोरोना वायरस को लेकर अब अजीबो-गरीब मामले सामने आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ की राजधानी में एक मकान मालिक ने युवती से इस वजह से घर खाली करा लिया, क्योंकि वो बतौर नर्स अपनी ड्यूटी निभा रही थी। हैरानी की बात यह है कि जनता कर्फ्यू के दौरान मकान मालिक और नर्स ने एक साथ खड़े होकर इस महामारी के बीच अपनी ड्यूटी निभा रहे डॉक्टरों, कर्मचारियों और स्वयंसेवकों का उत्साह बढ़ाने तालियां-थालियां बजाई थीं। अब जबकि, नर्स अपनी ड्यूटी निभाने घर से बाहर निकली, तो मकान मालिक नाराज हो उठा। उसने गुस्से में मकान खाली करा लिया। नर्स गिड़गिड़ाती रही कि अभी उसे कहां नया मकान किराये पर मिलेगा? लेकिन मकान मालिक नहीं माना। स्वयंसेवी संगठनों से जुड़े लोगों ने भी मकान मालिक को समझाने की कोशिश की, लेकिन उसका दिल नहीं पिघला। यह मामला जब प्रशासन तक पहुंचा, तो मकान मालिक के खिलाफ एक्शन लिया जा रहा है। कोरोना ने बदल दिया बर्ताव…
धमतरी के रहने वाली 23 साल की युवती ने बताया कि वो रायपुर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में नर्स है। वो पिछले 6 महीने से पंकज चंद्राकर के घर में किराये से रह रही थी। वैसे मकान मालिक अच्छे हैं, लेकिन जैसे ही लॉक डाउन की स्थिति बनी मकान मालिक का बर्ताव बदल गया। वे नहीं चाहते थे कि घर से कोई बाहर निकले। आखिर उसे मकान खाली करके दूसरी जगह शिफ्ट होना पड़ा। हालांकि उसे किराये पर नया मकान ढूंढने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा। ऐसे और भी मामले सामने आए हैं। प्रशासन लोगों से अपील कर रहा है कि जो लोग महामारी में अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं, उनका हौसला बढ़ाएं। सहयोग करें।