कोरोना और गरीबी से कंगाल हुआ पाकिस्तान, फिर मांगेगा बैंकों से….

नई दिल्ली। कोरोना संकट के कारण मुसीबतों से घिरा पाकिस्तान अब दिन-प्रतिदिन कंगाल होता जा रहा है। कोरोना की वजह से पाकिस्तान में काफ गरीबी बढ़ गई है। गरीबी और कोरोना से जूझते पाकिस्तान ने अब नया कर्ज मांगने की योजना बनाई है।कोरोना और गरीबी से परेशान पाकिस्तान ने विश्व बैंक और एशियाई विकास बैंक से नया कर्ज मांगा है। बताया जा रहा है कि यह कर्ज जी-20 देशों से मांगे गए कर्ज के मुकाबले काफी अधिक है। सूत्रों की माने तो इस्लामाबाद ने जी-20 देशों से 1.8 अरब डॉलर मांगे हैं।वहीँ एशियाई विकास बैंक और पाकिस्तान के बीच कोरोना वायरस एमरजेंसी लोन के तहत 30.5 करोड़ रुपये पर सहमति हुई है। इस राशि से वेंटिलेटर खरीदने, गरीब महिलाओं को धन बांटने आदि का काम किया जायेगा।बताया जा रहा है कि पाकिस्तान ने कोरोना के कारण अप्रैल माह में इंटरनेशनल मोनेटरी फंड से 1.39 अरब अमेरिकी डॉलर और वर्ल्ड बैंक से 20 करोड़ डॉलर एमरजेंसी मदद ली थी। वहीँ, बताया जा रहा है कि पाकिस्तान का पब्लिक लोन इस साल के जून माह तक बढ़कर 37,500 अरब पाकिस्तानी रुपये या जीडीपी का 90% हो जाएगा।बताया जा रहा है कि इमरान खान के पीएम बनने के बाद से पाकिस्तान पर कर्ज बढ़ते जा रहे हैं। वहीँ, पाकिस्तान में कोरोना भी तेजी से बढ़ रहा है। पाकिस्तान में अब तक 45 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं जबकि 985 से ज्यादा लोगों की मौतें हो चुकी हैं।