क्रिकेट दुनिया का वो दिग्गज फील्डर जिसकी फील्डिंग की तस्वीर छापी गई थी सिक्कों पर

दोस्तों विश्व भर में ऐसे कई बेहतरीन खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन से अपनी पहचान बनाई है। ऐसे कई खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपनी पहचान किसी बल्लेबाज या गेंदबाज के रूप में बनाई हैं, लेकिन आज हम आपको क्रिकेट जगत के ऐसे दिग्गज खिलाड़ी के बारे में बताने वाले हैं, जिसने अपनी पहचान किसी बल्लेबाज या गेंदबाज के तौर पर नहीं बल्कि फील्डर के तौर पर बनाई थी, इतना ही नहीं इस खिलाड़ी की फील्डिंग इतनी शानदार थी उसकी फील्डिंग करती हुई तस्वीर को सिक्के पर भी छापा गया था तो आइए उस खिलाड़ी का नाम जानते हैं।
दोस्तों हम जिस दिग्गज खिलाड़ी की बात कर रहे हैं वह और कोई नहीं बल्कि साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम के महान फील्डर जोंटी रोड्स है जिन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक्स्ट्रा प्लेयर के रूप में की थी, लेकिन एक खिलाड़ी के चोटिल होने के बाद जब उन्हें टीम में फील्डिंग करने का मौका मिला तो उन्होंने इतनी शानदार फील्डिंग की कि उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच के अवार्ड’ से नवाजा गया। उन्होंने अपने पूरे कैरियर में फील्डिंग से खूब नाम कमाया जोंटी रोड्स का फिल्डिग में वही रुतबा है जो बल्लेबाजी में सचिन का और गेंदबाजी में शेन वार्न है।
आप सभी जानकारी के लिए बता दे किस सन 1992 के वर्ल्ड कप का 22 वां मैच साउथ अफ्रीका और पाकिस्तान के बीच खेला गया था इस मैच में साउथ अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में 211 रन बनाए थे जिसके बात 212 रनों का पीछा करने पाकिस्तान की टीम मैदान पर उतरी, लेकिन इस मैच के दौरान तेज बारिश ने कई बाधा डाली। हर हाल में साउथ अफ्रीका को ये मैच जीतना बहुत ही जरूरी था क्योंकि, साउथ अफ्रीका ने इस वर्ल्ड कप में बेहद शानदार खेला था और उसे पाकिस्तान को हराकर आगे पहुंचना बहुत जरूरी था।
लगातार तेज हुई बारिश से पाकिस्तान का स्कोर 22 ओवर में 74 रन था जिसके बाद उसे 36 ओवर में 154 रन का टारगेट मिला यानी अगले 14 ओवर में उसे 120 रन बनाने थे। इस मैच में जोंटी रोड्स पॉइंट पर खड़े थे पर उनके मैदान पर खड़े होने का मतलब सामने वाली टीम के कम से कम 20 रन कम होना तय हैं। एक गेद इंजमाम के बल्ले की बजाय पैड पर लगी और पॉइंट की ओर चली गई जोंटी रोड्स गेंद की ओर दौड़ पड़े, जहां इंजमाम रन लेने के लिए मैदान से निकल चुके थे दूसरे एंड पर इमरान खान ने दो कदम निकाल कर उन्हें वापस जाने को कहा, इमरान को निकलता देख इंजमाम पूरी तरह से सिंगल लेने का मन बना चुके थे l
इंजमाम पीछे मुड़कर क्रिज पर वापस पहुंचना चाहते थे, लेकिन जोंटी बहुत तेज थे 5 केवल सेकंड का समय लगा, जब उन्होंने इंजमाम के पैड से लगाकर स्टंप तक पहुंचाने में और जोंटी ने दौड़कर गेंद को स्टंप में दे मारा यह पूरा मामला मात्र 5 सेकंड में हुआ।
जिसके बाद इंजमाम का बैट मैदान से दो बीत्ते की दूरी पर था और रोड्स विकेट के साथ जमीन पर गिरे और उठते ही अंपायर की ओर उंगली उठा दी। और रन आउट होने के बाद पाकिस्तान की टीम 173 पर ही ढेर हो गई और साउथ अफ्रीका ने यह मैच 20 रनों से जीत लिया और जोंटी रोड्स का यह रन आउट विश्व कप का सबसे प्रसिद्ध रन आउट बन गया और उन्होंने अपनी एक अलग पहचान बनाई, इतना ही नहीं इस रन आउट के बाद जोंटी रोड्स की रन आउट करते हुए तस्वीर सिक्कों पर भी छापी गई।
बता दे कि साउथ अफ्रीका के लिए सिक्का छापने वाली कंपनी साउथ अफ्रीकन मिंन ने साल 2003 में जोंटी रोड्स का सिक्का डाला था इस सिक्के पर जोंटी रोड्स की फील्डिंग करते हुए तस्वीर बनी हुई थी।