गजल गायक जगजीत सिंह को इसलिए करनी पड़ी अपने ही गुरू के पत्नी से शादी, जानकर हैरान हो…

भारतीय मनोरंजन जगत के स्टार गजल गायक जगजीत सिंह अब हम लोगों के बीच नहीं हैं। उन्होंने गजल को बहुत ही शानदार तरीके से संगीत देकर गाया था। आज भी उनके द्वारा गाये गयें गजल को सुनकर लोग रोमांचित हो जाते हैं। आइये जानते हैं गजल गायक जगजीत सिंह के व्यक्तिगत जीवन के बारे में।
जगजीत सिंह मुम्बई में अपने गुरू देबू प्रसाद के यहाँ गजल सिखते थें। उनके गुरू के पत्नी का नाम चित्रा सिंह था। चित्रा सिंह को एक बेटी भी थी, जिनका नाम मोना सिंह था।
जगजीत सिंह प्रतिदिन गजल सीखनें के लिए अपने गुरू के यहाँ जाते थें। जिस वजह से उनका अपने गुरू के पत्नी चित्रा सिंह से भी जान-पहचान बढ़ गया। धीरे-धीरे जगजीत सिंह अपने गुरू देबू प्रसाद के पत्नी चित्रा सिंह से प्यार करने लगें। इधर देबू प्रसाद भी किसी दूसरे लड़की से प्यार करने लगें थें और चित्रा सिंह पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं देते थें।
एक दिन जगजीत सिंह ने चित्रा सिंह से बोला कि तुम मुझसे शादी कर लो, इस पर चित्रा सिंह का जवाब था कि मैं अभी भी शादी-शुदा हो। यह सुनकर जगजीत सिंह अपने गुरू देबू प्रसाद के पास गयें और बोले कि वह चित्रा सिंह से शादी करना चाहते हैं। आपको ऐतराज तो नहीं हैं। चूंकि देबू प्रसाद किसी दूसरे लड़की से प्यार करते थें, इसलिए उन्होंने बोला कि नहीं चित्रा सिंह अपने मर्जी की मालिक है, कुछ भी कर सकती है। इतना सुनकर जगजीत सिंह वापस चित्रा सिंह के पास आयें और सारी बात उन्हें बता दी। इसके बाद दोनों ने शादी कर ली।