गोल गप्पे बेचकर बनाई आईपीएल में जगह, अब बहन की कराई शादी

यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने पेट की भूख मिटाने के लिए सड़कों पर गोल गप्पे तक बेचे और बॉल बाय के रूप में भी काम किया.

गोल गप्पे बेचकर बनाई आईपीएल में जगह, अब बहन की कराई शादी

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट जगत के उभरते सितारे यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) के लिए आज का दिन बेहद खुशियों वाला है. आज उनकी बहन की शादी होने जा रही है. ये यशस्वी के लिए बहुत बड़ी बात है क्योंकि उनका बचपन बेहद तंगहाली में गुजरा है. उत्तर प्रदेश के भदोही से सिर्फ 11 साल की उम्र में क्रिकेट खेलने के सपने को लेकर मुंबई पहुंचे जायसवाल यहां आकर एक डेयरी फॉर्म में रहे. उन्होंने तीन साल तक अपना जीवन चाचा के साथ एक छोटे कमरे में गुजारा. गरीबी का ये आलम था कि कभी-कभी उन्हें खाली पेट भी सोना पड़ता था. पेट की भूख मिटाने के लिए उन्होंने सड़कों पर गोल गप्पे तक बेचे और बॉल बाय के रूप में भी काम किया.

कड़ी मेहनत से नाम कमाया

बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज उस समय सुर्खियों में आ गए जब उन्होंने वनडे क्रिकेट में सबसे कम उम्र में दोहरा शतक जड़ने का कारनामा किया. इसके बाद उन्हें अंडर 19 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में चुना गया. दक्षिण अफ्रीका में हुए इस वर्ल्ड कप में उन्होंने छह मैचों में एक शतक और चार अर्धशतक की बदौलत 400 रन बनाए थे. उन्हें मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया, हालांकि फाइनल में भारत को बांग्लादेश के हाथों तीन विकेट से हार मिली थी.

IPL ने बनाया करोड़पतिअंडर 19 टीम में धमाल मचाने वाले यशस्वी पर सभी आईपीएल फ्रेंचाइजी की नजर थी. आईपीएल 2020 की नीलामी में उनका बेस प्राइस 20 लाख रुपया था लेकिन यह बल्लेबाज 2.4 करोड़ में बिका. जायसवाल को राजस्थान रॉयल्स की टीम ने खरीदा. हालांकि आईपीएल में उनका प्रदर्शन ठीक नहीं रहा और वह सीजन के पहले तीन मैचों में सिर्फ 40 रन ही बना सके. इसके बाद उन्हें आईपीएल के बाकी सीजन में बेंच पर बैठना पड़ा.

मुंबई टीम में हुआ चयन
मुंबई के लिए हाल में ही प्रैक्टिस मैचों में धमाल मचाने वाले जायसवाल को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए मुंबई की 22 सदस्यीय टीम में शामिल किया गया है. उन्हें इस टी20 टूर्नामेंट में मुंबई की टीम सलामी बल्लेबाज के तौर पर उतार सकती है.

लिस्ट ए मैचों में है शानदार रिकॉर्ड
19 साल के यशस्वी जायसवाल का लिस्ट ए मैचों में शानदार रिकॉर्ड है. 13 लिस्ट ए मैचों उन्होंने करीब 71 की औसत से 779 रन बनाए हैं. उन्होंने तीन शतक और तीन अर्धशतक जड़ा है.