ग्रहण के दिन सेहत का रखें ख्याल, जानें किस दिन पड़ेगा ग्रहण

LatestNews1: अभी हाल ही में पूर्ण सूर्य ग्रहण का नजारा देखने को मिला था अब आने वाली 5 जुलाई को साल का तीसरा चंद्रग्रहण लगने जा रहा है। अबकी बार चंद्रग्रहण पर खास योग भी बन रहा है क्योंकि चंद्रग्रहण के दिन ही गुरू पूर्णिमा का त्यौहार भी है।

ज्योतिष के अनुसार हमें ग्रहण के समय विशेष ख्याल रखने की आवश्यकता है। ग्रहण का सबसे अधिक नकारात्मक प्रभाव आपकी सेहत पर पड़ता है साथ ही ग्रहण का सर्वाधिक प्रभाव गर्भवती महिलाओं के गर्भ में पल रहे बच्चे पर भी पड़ता है। ऐसे में आइए जानते हैं हम किस प्रकार से अपने आप को ग्रहण के नकारात्मक प्रभाव से बचा सकते हैं।

सेहत का रखें विशेष ख्याल

मान्यताओं के अनुसार ग्रहण लगने पर सूतक काल प्रारम्भ हो जाता है और कहा जाता है कि सूतक काल में हमें कुछ भी खाना नहीं चाहिए अत: ग्रहण शुरू होने से पहले ही आप भोजन आदि कर लें अन्यथा फिर सूतक काल खत्म होने के बाद करें।

आप ग्रहण के समय में खाना बनाए भी नहीं क्योंकि ग्रहण खाने के पोषक तत्वों पर भी प्रभाव डालता है। पुराणों में ग्रहण के दौरान खाना बनाने का वर्जित बताया गया है।

ग्रहण के दौरान आप व्रत भी रख सकते हैं।

ग्रहण के दौरान आप तुलसी के पत्ते को पानी में उबालकर उसे पी सकते हैं इससे ग्रहण का नकारात्मक प्रभाव कम होता है।

गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान सात्विक भोजन लेने की सलाह दी जाती है.

हांलाकि डॉक्टरों के अनुसार गर्भवती महिलाओं को ज्यादा समय तक भूखा नहीं रहना चाहिए। यदि गर्भवती महिला 2 – 3 घंटे से ज्यादा भूखी रहती है तो गर्भ में पल रहे शिशु को पोषण नहीं मिल पाता है और शिशु का विकास बाधित होता है।