चलती ट्रेन में नाबालिग लड़की से दो बार दुष्कर्म, युवक दिल्ली से लेकर पहुंचा पंजाब

चलती ट्रेन में नाबालिग लड़की से दो बार दुष्कर्म, युवक दिल्ली से लेकर पहुंचा पंजाब

एक 25 वर्षीय युवक ने ट्रेन की टायलेट में नौ वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म किया। आरोपित बच्ची को लेकर दिल्ली रेलवे स्टेशन से जयनगर-अमृतसर जाने वाली ट्रेन में चढ़ा था।…

जेएनएन, फतेहगढ़ साहिब। जयनगर-अमृतसर के बीच चलने वाली शहीद एक्सप्रेस के टॉयलेट में 25 वर्षीय युवक ने नौ वर्षीय नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म कर डाला। आरोपित युवक दिल्ली रेलवे स्टेशन से बिना टिकट बच्ची को लेकर ट्रेन में चढ़ा था। दो बार दुष्कर्म करने के बाद ट्रेन में बच्ची की तबियत खराब हुई तो आरोपित उसे लेकर फतेहगढ़ साहिब जिले के मंडीगोबिंद स्टेशन पर उतर गया।

रोती हुई बच्ची के साथ युवक को देख गैंगमैन को शक हुआ और उसने रेलवे पुलिस को बुला लिया। मामला ट्रेन में बच्ची से दुष्कर्म का निकला तो पुलिस ने उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले के गांव बस्ती नवाबपुर के आरोपित सुशील सोनू को गिरफ्तार कर दुष्कर्म का केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने फिलहाल जीरो एफआइआर दर्ज ही है। केस आगे की जांच के लिए पुरानी दिल्ली रेलवे पुलिस को सौंपा जाएगा। 

पीडि़त बच्ची ने प्रारंभिक पूछताछ में बताया कि वह दिल्ली में अपनी बहन के पास रहती है। वह 20 अगस्त की सुबह रास्ता भटक कर दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहुंच गई। वहां आरोपित युवक सुशील सोनू उससे बात करने लगा। बहला-फुसला कर पास में खड़ी शहीद एक्सप्रेस के अंदर ले गया। टॉयलेट में अंदर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया।

इस बीच, ट्रेन चल पड़ी। वह बच्ची को लेकर ट्रेन में ही बैठा रहा। रास्ते में चलती ट्रेन में उसे फिर बाथरूम में लेकर गया और दोबारा दुष्कर्म किया। दर्द होने पर उसने बच्ची को ट्रेन में ऊपर वाली सीट पर सुला दिया। बच्ची के पेट में तेज दर्द होने लगा तो वह रोने लगी। पकड़े जाने के डर से वह बच्ची को लेकर मंडी गोबिंदगढ़ स्टेशन पर उतर गया। रोती हुई बच्ची के साथ बच्ची को देख गैंगमैन ने रेलवे पुलिस को सूचित कर दिया।

पूछताछ में पहले युवक खुद को बच्ची का रिश्तेदार बताने लगा, लेकिन बच्ची ने बताया कि वह रिश्तेदार नहीं है। वह उसे दिल्ली से लेकर आया है। दर्द के कारण बच्ची लगातार रो रही थी, इसलिए पुलिस उसे चाइल्ड केयर होम ले गई। वहां महिला डॉक्टर ने बच्ची का मेडिकल किया। महिला डॉक्टर को बच्ची ने ट्रेन में उसके साथ दुष्कर्म की बात बताई। पुलिस का कहना है कि आरोपित युवक बच्ची को मंडी गोबिंदगढ़ से ही वापस दिल्ली ले जाने की फिराक में था। बच्ची दर्द के कारण रो रही थी, इसलिए शक होने पर वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

बच्ची अभी सहमी हुई है

जिला बाल सुरक्षा अधिकारी एचएस महमी का कहना है कि बच्ची अभी सहमी हुई है। वह कभी दिल्ली तो कभी उत्तर प्रदेश की रहने वाली बता रही है। सही पता लगाने के लिए दिल्ली चाइल्ड केयर होम ग्रुप को भी फोटो भेजी है। कोविड-19 के कारण अभी बच्ची से ज्यादा पूछताछ नहीं की जा रही है। कोरोना की रिपोर्ट आने तक उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा है।