जम्मू-कश्मीर: लश्कर का टॉप कमांडर आसिफ को सेना ने किया ढेर

सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हाथा लगी है। जानकारी के मुताबिक, आतंकियों के साथ मुठभेड़ में भारतीय सेना ने लश्कर-ए- तैयबा के टॉप कमांडर आसिफ को मार गिराया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, सेना ने आसिफ का एनकाउंटर जम्मू-कश्मीर के सोपोर में मार गिराया है। बता दें कि आसिफ वहीं आतंकवादी हैं जिसनें हाल ही में सोपोर में एक फल व्यापारी के तीन परिवार के सदस्यों को गोली मार दी थी। घायलों में एक छोटी बच्ची आसमा जान भी शामिल थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, लश्कर का आतंकी आसिफ आसिफ के ऊपर सोपोर में एक प्रवासी श्रमिक शफी आलम की भी हत्या का जिम्मेदार है। हालांकि, इस एनकाउंटर में भारतीय सेना के दो जवान भी घायल हो गए। बता दें कि आसिफ ने जम्मू-कश्मीर में काफी आंतक मचा रखा था और पिछले कुछ समय से बहुत सक्रिय था।

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा, ‘लश्कर के आसिफ ने सोपोर में काफी आतंक मचा रखा था। पिछले 1 महीने में वह बहुत सक्रिय था। आसिफ ने ओवर ग्राउंड वर्कर्स का उपयोग करके नागरिकों को धमकी दी थी कि वे अपनी दैनिक गतिविधियों के लिए दुकानों को नहीं खोलने और न जाने के लिए पोस्टर प्रिंट करें।’

डीजीपी ने कहा, ‘आज सुबह हमें विशेष सूचना आसिफ के बारे में मिली थी और हमने इसके लिए नाके लगाए गए। हमने (आसिफ़) को रोकने की कोशिश की, लेकिन वह माना नहीं। उसने हमारे ऊपर ग्रेनेड फेंका जिसमें हमारे 2 पुलिस कर्मी घायल हो गए। हालांकि, अब वे खतरे से बाहर हैं।’

दिलबाग सिंह ने कहा,’ जम्मू के सभी 10 जिले पूरी तरह से सामान्य हो गए हैं, सभी स्कूल, कॉलेज और कार्यालय खुले हैं। लेह और कारगिल भी सामान्य हैं, वहां किसी भी तरह का कोई प्रतिबंध नहीं है। 90% से अधिक क्षेत्र प्रतिबंधों से मुक्त हैं, 100% टेलीफोन एक्सचेंज अब काम कर रहे हैं।’

गौरतलब है कि सीमा पार से आतंकवादी लगातार जम्मू-कश्मीर में अशांति फैलाने की कोशिश करते रहे हैं। हांलांकि, ज्यादातर मौकों पर भारतीय सेना उनके मंसूबों पर पानी फेर देेती है। सरकार और सुरक्षाबलों को आईबी ने पिछले दिनों इनपुट दिया था कि आतंकवादी और पाकिस्तानी सेना आने वाले दिनों में जम्मू-कश्मीर और राजस्थान के कुछ इलाकों में बड़ी आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। इसी क्रम में जैश सरगना आतंकी मसूद अजहर को पाकिस्तान सरकार ने गुपचुप तरीके से रिहा किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *