जहीर खान ने दिखाया अर्जुन तेंदुलकर को आईना, ‘यही है तुम्हारी जिंदगी की हकीकत’

मुंबई: अर्जुन तेंदुलकर को आईपीएल नीलामी में मुंबई इंडियन्स द्वारा खरीदे जाने के बाद से क्रिकेट में वंशवाद यानी नेपोटिज्म की चर्चा जोरों पर है.20 लाख रुपये के बेस प्राइज पर अर्जुन तेंदुलकर को मुंबई इंडियन्स ने अपनी टीम में शामिल कर लिया.साल 2021 के लिए हुई नीलामी में बिकने वाले वो आखिरी खिलाड़ी थे.केवल मुंबई इंडियन्स ने उन्हें अपनी टीम में शामिल करने के लिए बोली लगाई.

सोशल मीडिया पर अर्जुन तेंदुलकर के अबतक के प्रदर्शन के आधार पर लताड़ लगाई जा रही थी.लोग कर रहे थे कि सचिन तेंदुलकर का बेटा होने की वजह से ही उन्हें आईपीएल में मुंबई इंडियन्स ने खरीदा है.लेकिन नीलामी खत्म होने के तुरंत बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए आए मुंबई इंडियन्स के क्रिकेट हेड जहीर खान ने अर्जुन को हकीकत का आईना दिखाते हुए एक नसीहत भी दे डाली.

जहीर ने नीलामी के बाद अर्जुन तेंदुलकर के बारे में चर्चा करते हुए कहा, सचिन तेंदुलकर का बेटा होने का अतिरिक्त दबाव हमेशा उनके ऊपर रहेगा.ये ऐसी चीज है जिसके साथ जीना उन्हें सीखना होगा और ऐसे में टीम का माहौल उनके लिए मददगार साबित होगा.ये दबाव एक अच्छा क्रिकेट खिलाड़ी बनने में उनकी मदद करेगा।

जहीर ने आगे कहा, आईपीएल नीलामी में कई युवा खिलाड़ियों को चुना गया है लेकिन हर कोई उसकी चर्चा कर रहा है.उन्हें खुद का साबित करना होगा कि उनके अंदर प्रतिभा है और वो एक अच्छे खिलाड़ी हैं।अर्जुन तेंदुलकर की बड़ी बहन सारा तेंदुलकर ने अपने भाई को बधाई देते हुए उनकी आलोचना करने आलोचकों को करारा जवाब दिया था कि ये उपलब्धि तुम्हारी अपनी है और कोई भी तुमसे ये नहीं छीन सकता.

वहीं मुंबई इंडियन्स ने नीलामी के तुरंत बाद अपने आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल पर अर्जुन तेंदुलकर का टीम में स्वागत करते हुए कहा था कि क्रिकेट उनके खू,न में है.मुंबई इंडियन्स के हेड कोच महेला जयवर्धने ने भी अर्जुन को टीम में शामिल किए जाने के निर्णय का बचाव करते हुए कहा था कि उन्हें उनके क्रिकेट कौशल की वजह से टीम में जगह मिली है.सचिन की वजह से उनके साथ बड़ा टैग जुड़ा है लेकिन वो उनसे इतर एक गेंदबाज हैं.इसलिए मुझे लगता है कि सचिन अगर अर्जुन की तरह गेंदबाजी कर पाते तो उन्हें उन्हें खुद पर गर्व होता।