जानिए किन किन लोगों को मिलेगा प्रधानमंत्री आवास योजना से लाभ। कहीं आप तो नहीं इससे वंचित

देश के हर गरीब से गरीब व्यक्ति का सपना होता है कि उसका खुद का घर हो जिसमें वह बिना किसी रोक-टोक के, बिना किसी परेशानी के आराम से रह सके। लेकिन भारत में ऐसे बहुत से लोग हैं जिनके पास इतनी इनकम नहीं होती है जिससे वह खुद का घर बना सके और आराम से रह सके। इसी बात को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत यह योजना निकाली गई है। जिसमें प्रत्येक गरीब व्यक्ति को पक्का घर बनाने के लिए कुछ राशि सरकार की तरफ से दी जाएगी। आज हम आपको बताएंगे कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कौन कौन व्यक्ति लाभ ले सकते हैं और इसके लिए आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है।

कौन-कौन उठा सकते हैं प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ।

दोस्तों सबसे पहले हम बात करते हैं कि प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ कौन कौन से वर्ग के व्यक्ति उठा सकते हैं अगर आपको नहीं पता है तो इस जानकारी को पूरा पढ़ लीजिए। इस योजना के लिए 21 वर्ष से लेकर 55 वर्ष तक का कोई भी उम्मीदवार आवेदन कर सकता है। चाहे वह ग्रामीण क्षेत्र का हो या शहरी क्षेत्र का। अगर 55 वर्ष से अधिक उम्र हो गई है तो उसका वारिस या बेटा इस योजना के तहत आवेदन कर सकता है। पहले इस लोन की सीमा ₹300000 से लेकर ₹600000 तक थी वर्तमान में इसे बढ़ाकर ₹1800000 कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेने के लिए आमदनी कितनी होनी चाहिए।

अगर आप प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो सबसे पहले आप यह जान लीजिए कि इसके लिए आपकी सालाना आमदनी कितनी होनी चाहिए। आपकी आमदनी के हिसाब से ही आपको लोन दिया जाएगा। EWS (निम्न आर्थिक वर्ग) के लिए सालाना घरेलू आमदनी 3.00 लाख रुपये तय है. LIG (कम आय वर्ग) के लिए सालाना आमदनी 3 लाख से 6 लाख के बीच होनी चाहिए। सालाना 12 और 18 लाख रुपये तक की आमदनी वाले लोग भी PMAY का लाभ उठा सकते हैं। अगर आपको ₹300000 का लोन चाहिए तो कम से कम आपकी सालाना आमदनी तीन लाख से अधिक होनी चाहिए।

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिलती है सब्सिडी।

दोस्तों प्रधानमंत्री आवास योजना गरीब लोगों के उन्मूलन के लिए चलाया गया प्रोग्राम है। इसके तहत आवेदन करने वाले लोगों को सब्सिडी के तहत कुछ राहत भी दी जाती है। चलिए जानते हैं कि इसके तहत कितनी सब्सिडी मिलने के प्रावधान है। 6.5 फीसदी की क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी सिर्फ छह लाख रुपये तक के लोन पर उपलब्ध है।12 लाख रुपये तक की सालाना कमाई वाले लोग नौ लाख रुपये तक के लोन पर चार फीसदी ब्याज सब्सिडी का लाभ उठा पाएंगे।इसी तरह 18 लाख रुपये तक की सालाना कमाई वाले लोग 12 लाख रुपये तक के लोन पर तीन फीसदी ब्याज सब्सिडी का लाभ उठा पायेंगे।