जिंदा युवक का पोस्टमार्टम! फिर मोर्चरी में हुआ उसे देख डॉक्टरों के उड़े होश

सतना। मध्य प्रदेश के सतना जिले में जिंदा युवक के पोस्टमार्टम का मामला सामने आया है। मोर्चरी में पोस्टमार्टम टेबल पर लेते युवक के शरीर में एनवक्त हलचल हुई, जिसे देख डॉक्टर भी चौंक गए। उधर, युवक के परिजनों व ग्रामीणों ने डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप और विरोध प्रदर्शन किया।

Post mortem of alive young man in satna madhya pradesh

हुआ यूं कि सतना जिले के नागौद के गांव चंद्रकुइयां में सब्जी के थोक व्यापारी रामप्रताप कुशवाह के घर शनिवार को रामायण का पाठ आयोजित करवाया गया था। रविवार को पूरे गांव के लिए भंडारा किया गया। भंडारे के दौरान सुबह करीब नौ बे रामप्रताप कुशवाह का बेटा 45 वर्षीय बच्चू कुशवाह अन्य लोगों के साथ झंडा चढ़ाने जा रहे थे। तब बच्चू कुशवाह करंट की चपेट में आ गया। करंट लगने के बाद लोग बच्चू को तुरंत नागौद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ले गए। डॉक्टरों ने बच्चू को जांच के बाद मृत घोषित कर दिया और शव को पोस्टमार्टम के लिए शव को मुर्दाघर में रखवाया।

सुबह करीब 11 बजे नागौद के डॉक्टर बच्चू के शव का पोस्टमार्टक करने लगे। पोस्टमार्टम प्रक्रिया शुरू ही की थी कि डॉक्टरों को महसूस हुआ कि बच्चू के शरीर में हलचल हुई। इस पर डॉक्टर भी चौंक गए और पोस्टमार्टम प्रक्रिया तुरंत रोक दी। इसके बाद बच्चू को सतना के जिला अस्पताल में रैफर किया गया।