टीम इंडिया की पिटाई से डर रही है ऑस्ट्रेलियाई टीम, इसीलिए कर रही है खेलने से मना

वर्ल्ड क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया सबसे कद्दावर टीमों में से एक मानी जाती है और विरोधी टीमों के लिए कंगारुओं की धरती पर जाकर क्रिकेट खेलना आसान नहीं रहा है. ऑस्ट्रेलिया में जब भी कोई मेहमान टीम आती है, तो मैदान के अंदर और बाहर दोनों जगह खेल खेला जाता है. ऑस्ट्रेलिया में आने वाली मेहमान टीमों पर दबाव बनाने के लिए ऑस्ट्रेलियाई मीडिया अलग से काम करती है. ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ज्यादातर मौकों पर कंगारुओं के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीमों पर दबाव बनाती है, ताकि इसका फायदा मैदान पर मेजबान टीम उठा सके. 

पहले मार्क-वॉ पोटिंग ने खेला माइंड गेम 

एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरी पारी में महज 36 रनों पर ऑलआउट हो गई थी. कंगारू टीम ने ढाई दिन के अंदर भारत को 8 विकेट से मात देकर सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली. एडिलेड में भारत को मिली शर्मनाक हार के बाद मार्क वॉ और रिकी पोंटिंग जैसे दिग्गजों ने कहा कि टीम इंडिया वापसी नहीं कर पाएगी. 

रहाणे ने शांत रहकर किया पलटवार 

मार्क वॉ और रिकी पोंटिंग का कहना था कि विराट कोहली और मोहम्मद शमी जैसे दिग्गज खिलाड़ियों के बिना टीम इंडिया पलटवार नहीं कर पाएगी. ऑस्ट्रेलियाई टीम के हेड कोच जस्टिन लैंगर ने दूसरे टेस्ट मैच से पहले कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे पर दबाव बनाना शुरू कर दिया.

लेकिन अजिंक्य रहाणे ने ऑस्ट्रेलियाई माइंड गेम पर ध्यान नहीं दिया और टीम इंडिया ने रहाणे की कप्तानी में मेलबर्न में जबरदस्त वापसी की. मेलबर्न में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में भारतीय टीम में कोई स्टार खिलाड़ी मौजूद नहीं था. टीम इंडिया में न तो विराट कोहली थे, न रोहित शर्मा थे और न ही मोहम्मद शमी थे.

रहाणे ने शतक जड़कर टीम इंडिया को जिताया 

स्टार खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में टीम इंडिया मेलबर्न टेस्ट में उतरी. नए कप्तान अजिंक्य रहाणे ने टीम इंडिया की मोर्चे से अगुवाई करते हुए मेलबर्न में शानदार शतक ठोका. रहाणे ने टीम इंडिया को कंगारुओं पर 8 विकेट से धमाकेदार जीत दिला दी. 

भारत ने की क्रिकेट इतिहास की बेहतरीन वापसी 

टीम इंडिया की इस जीत के बाद दिग्गजों ने इस वापसी को क्रिकेट इतिहास की सबसे बेहतरीन वापसियों में से एक बताया है. भारतीय गेंदबाजों के सामने मेलबर्न में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी की पोल खुल गई. डेविड वॉर्नर की गैरमौजूदगी और स्टीव स्मिथ की खराब फॉर्म के कारण मेलबर्न में ऑस्ट्रेलियाई टीम ध्वस्त हो गई. 

फिर शुरू हुआ ऑस्ट्रेलियाई मीडिया का माइंड गेम 

टीम इंडिया की इस जीत के बाद ऑस्ट्रेलियाई मीडिया और कंगारू दिग्गजों ने भारतीय खिलाड़ियों का ध्यान भड़काने के लिए नए-नए हथकंडे अपनाने शुरू कर दिए. ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने दावा किया कि 5 भारतीय क्रिकेटरों ने मेलबर्न के एक रेस्टोरेंट में जाकर खाना खाया और BCCI कोविड-19 नियमों के उल्लंघन के लिए उनकी जांच कर रही है. 

टीम इंडिया के 5 खिलाड़ियों पर लगे आरोप 

ऑस्ट्रेलियाई मीडिया के मुताबिक पांच भारतीय खिलाड़ियों में रोहित शर्मा, शुभमन गिल, नवदीप सैनी, ऋषभ पंत और पृथ्वी शॉ शामिल थे, जो मेलबर्न में न्यू ईयर के दिन एक रेस्टोरेंट के अंदर खाना खाते दिखाई दिए. सिडनी मॉर्निग हेराल्ड और द एज से रेस्टोरेंट के स्टाफ ने इस बात की पुष्टि की है कि खिलाड़ियों ने रेस्टोरेंट का दौरा किया और अंदर बैठे. 

भारतीय प्रशंसक ने ऐसे शुरू किया विवाद 

बयान में कहा गया, खिलाड़ियों को सख्त प्रोटोकॉल्स में ट्रेनिंग करने की इजाजत होगी. नवदीप सिंह नाम के एक भारतीय प्रशंसक ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने भारतीय खिलाड़ियों का 118.69 डॉलर के बिल का भुगतान किया. उन्होंने खिलाड़ियों की शॉपिंग की भी पिक्चर पोस्ट की हैं.

विवाद बढ़ते देख प्रशंसक ने मांगी माफी 

रेस्टोरेंट में किए गए इस उल्लंघन को काफी गंभीर माना जा रहा है, क्योंकि हाल ही में विक्टोरिया में, जहां मेलबर्न है और सिडनी में जहां सात जनवरी से टेस्ट मैच खेला जाना है वहां Covid-19 के मामले बढ़ रहे हैं. इन सब चीजों की शुरुआत उस समय हुई जब नवलदीप सिंह नाम के एक प्रशंसक ने भारतीय क्रिकेटर रोहित शर्मा, ऋषभ पंत, नवदीप सैनी और शुभमन गिल की एक रेस्टोरेंट में खाना खाते हुए तस्वीर और वीडियो को ट्वीट किया.

BCCI ने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया को लताड़ा 

रेस्टारेंट में खिलाड़ियों के समीप बैठने का दावा करने वाले इस प्रशंसक ने बाद में भ्रम पैदा करने के लिए माफी मांगी. प्रशंसक ने दावा किया था कि खिलाड़ियों के खाने के बिल का भुगतान करने के बाद पंत ने उन्हें गले लगाया था. इसके बाद भारतीय टीम मैनेजमेंट और BCCI ने बयान जारी कर ऑस्ट्रेलियाई मीडिया की रिपोर्ट को बकवास बताया और कहा कि भारतीय क्रिकेटरों ने किसी भी प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं किया है. बीसीसीआई ने इसे ऑस्ट्रेलियाई मीडिया के एक समूह का दुर्भावनापूर्ण प्रयास करार दिया.

खिलाड़ियों के सपोर्ट में उतरा बोर्ड 

भारतीय क्रिकेट बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मेहमान टीम कोविड-19 नियमों से अच्छी तरह वाकिफ है और उसने किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया है. बीसीसीआई के अधिकारी ने बताया, ‘टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने जैविक रूप से सुरक्षित नियमों का कोई उल्लंघन नहीं किया है. टीम से जुड़ा प्रत्येक व्यक्ति नियमों से अच्छी तरह वाकिफ है.’ 

सिडनी जाएंगे रोहित समेत पांचों खिलाड़ी 

भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के लिए कल सिडनी रवाना होगी. टीम इंडिया के साथ वे पांच खिलाड़ी भी जाएंगे, जिन्हें Covid 19 बायो सिक्योरिटी प्रोटोकॉल्स तोड़ने पर आइसोलेट किया गया था. टीम इंडिया के सूत्रों ने कहा कि वे एक साथ यात्रा करने जा रहे हैं और इसमें किसी भी प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं है. भारतीय खिलाड़ियों पर फिजूल के आरोप लगाए गए हैं. पूरी टीम 2 महीने से कोरोना के सभी नियमों का पालन कर रही है. 

गाबा टेस्ट को लेकर अनबन 

ऐसी खबरें हैं कि भारतीय क्रिकेट टीम ब्रिस्बेन में सख्त लॉकडाउन नियमों के कारण ऑस्ट्रेलिया के साथ जारी सीरीज का चौथा और आखिरी टेस्ट गाबा में नहीं खेलना चाहती है. ऐसे में क्वींसलैंड की सरकार ने कहा है कि टीम इंडिया अगर राज्य के प्रोटोकॉल्स मानने की इच्छुक नहीं है तो उसे राज्य में आना नहीं चाहिए. रिपोर्ट हैं कि अगर भारतीय टीम को क्वारनटीन से गुजरना पड़ा तो वह ब्रिस्बेन जाने की इच्छुक नहीं है.

टीम इंडिया को क्वींसलैंड सरकार की नसीहत 

क्वींसलैंड सरकार के सदस्यों ने कहा कि भारतीय टीम के लिए नियमों का पालन करना ही विकल्प है. फॉक्स स्पोर्ट्स ने क्वींसलैंड के स्वास्थ मंत्री रोस बेट्स के हवाले से लिखा है, ‘अगर भारतीय टीम नियमों का पालन नहीं करना चाहती, तो यहां नहीं आएं.’ क्वींसलैंड के खेल मंत्री टिम मेंडर ने कहा है कि प्रोटोकॉल्स की अवहेलना करने का सवाल ही नहीं है.

मेंडर ने कहा, ‘अगर भारतीय क्रिकेट टीम ब्रिस्बेन की क्वारनटीन गाइडलाइंस का पालन नहीं करना चाहती है तो वह यहां नहीं आए. समान नियम हर किसी पर लागू होते हैं. सिंपल.’  भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच 7 जनवरी से सिडनी में खेला जाएगा. टेस्ट सीरीज में फिलहाल दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर है.