डबल मर्डर खुलासा: बेटी ही निकली मां की हत्यारी, सामने आई चौंकाने वाली वजह

daughter kills mother due to illicit relationship

 सिरसा के गांव नाथूसरी कलां में हुए दोहरे हत्या कांड का सीआईए पुलिस ने मात्र 48 घंटो में पर्दाफाश कर दिया है।  हत्या को अंजाम देने और साजिश रचने वाले कोई और नहीं बल्कि मृतक महिला संतरो देवी की खुद की बेटी और उसका दोहता है। पुलिस ने मुख्य आरोपी महिला सहित 4 आरोपियों को काबू करने में बड़ी सफलता हासिल की है।

PunjabKesari, haryana

ऐलनाबाद के डीएसपी जगत सिंह ने प्रेससवार्ता कर जानकारी देते हुए बताया कि बीती 13-14 जुलाई की रात्री को गांव नाथूसरी कंला की रहने वाली संतरो  देवी व जलंधर सिंह वासी भंगु हाल नाथूसरी कलां की अज्ञात लोगों ने तेजधार हथियारों से हत्या कर दी थी। जिस पर मृतका के लड़के गोरीशंकर वासी नाथूसरी चोपटा के ब्यान पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करके जांच शुरु की गई।

उन्होंने कहा कि इसके लिए सीआईए सिरसा व थाना नाथूसरी चोपटा की संयुंक्त टीम का गठन किया गया। इस टीम ने कार्यवाही करते हुए आरोपियों के खिलाफ महत्वपूर्ण सुराग जुटाए और मात्र 48 घंटो के अंदर मुख्य आरोपी सहित वारदात में शामिल 4 आरोपियों को गिरफतार कर लिया है। डीएसपी ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि मृतका संतरो देवी के जलंधर सिंह के साथ 3-4 सालों से अवैध संबंध थे।

जिसको लेकर मृतका संतरो की बेटी सुमित्रा व दोहता सोनू कुमार रंजिश रखते थे व गांव के कुछ लोग भी इस बात को लेकर रंजिश रखते थे। संतरो के नाम पर गांव भाडी राजस्थान में 24 बीगा जमीन थी, जिसमें से 10 बीघा जमीन अपने बेटे के नाम करवा चुकी थी, जबकि बाकी 14 बीघा जमीन मृतका के नाम थी। 

PunjabKesari, haryana

बेटी सुमित्रा को शक था कि उसकी मां यह जमीन जलंधर सिंह के नाम करवा सकती है। जिसके चलते रंजिशवश सुमित्रा व सोनू ने संतरो की हत्या की योजना बनाई व इस वारदात में अपने साथियों अजय कुमार वासी ढाणी गोपाल व जसबीर वासी किरमारा को भी शामिल कर लिया। डीएसपी ने बताया कि सुमित्रा सहित चार आरोपियों को काबू कर लिया है। अभी हत्या की साजिश के आरोपी बृजलाल नंबरदार की गिरफ्तारी बाकी है, जिसे शीघ्र काबू कर लिया जाएगा।