डॉ कुमार विश्वास के बीजेपी में शामिल होने की खबर की अब असलियत आई सामने

बुधबार से लेकर अब तक कई बार इस प्रकार की पोस्ट देख चुके होंगे, खबर सही है या गलत ये देखने के लिऐं जब डॉ कुमार विश्वास के ट्विट को देखकर सर्च किया गया तो जो जानकारी मिली वो वाकई एकदम अलग थी. कुमार विश्वास वास्तव में एक विश्वास है, जो किसी के साथ शामिल और दूर रहने की खबर की घोषणा करने में नही हिचकेंगे.पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार भी घोषित हो गए थे जबकि कुमार विश्वास खुद एक कार्यक्रम के सिलसिले में विदेश गये हुए थे.

जहाँ से उन्होंने इस बात का खंडन भी किया था.कुमार विश्वास के एक समर्थक के द्वारा कहा गया कि कल से अब तक कई बार इस प्रकार की पोस्ट देख चुका हूँ,खबर सही है या गलत ये देखने के लिऐं ट्ववीट खोलता हूँ तो पता चलता है की लोग वैचारिक मोतियाबिंद के शिकार हो गये है।जिसके इलाज का अविष्कार अभी नही हुआ है.बता दें कि अब एक बात साफ़ हो चुकी है कि कुमार विश्वास के प्रति लोंगों का विश्वास कितना गहरा है जो उनको चुनाव से पहले जाने कितनी बार किन किन पार्टियों में शामिल करा देते है. यही आदमी की पहचान होती है.