तांत्रिक ने 7 लाख रुपये में 4 कबूतर बेचे, बोला- बेटे की मौत टल जाएगी फिर

महाराष्ट्र में रहने वाले एक परिवार को अंधविश्वास के कारण 7 लाख रुपये गंवाने पड़े। उन्हे 4 कबूतरों की कीमत लगभग 7 लाख रुपये पड़ी। पुणे में एक तांत्रिक ने एक परिवार को ठगकर उनसे पैसे लिए। घटना की शिकायत अब पुलिस स्टेशन में पहुंच गई है। शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे धकेल दिया है। यह घटना पुणे के कोंढवा इलाके में रहने वाले एक परिवार के साथ घटी। कहा जाता है कि पीडि़त परिवार अपने एक परिवार के सदस्य की बीमारी से बहुत परेशान था। बीमारी के लिए सभी उपचार के बावजूद बीमार बेटे को कहीं से कोई राहत नहीं मिली। परिवार तब किसी के जरिये तांत्रिक कुतुबुद्दीन नजम से मिलने पहुंचा। आरोपी तांत्रिक कुतुबुद्दीन ने परिवार को बताया कि किसी ने आपके बेटे पर काला जादू किया है, जिससे मौत हो सकती है। मौत के डर बताकर बाबा ने पीडि़त परिवार से 6 लाख 80 हजार रुपये का कबूतर खरीदने को कहा। यानि एक कबूतर 1 लाख 70 हजार रुपये में पड़ा। परिवार खुशी-खुशी से बीमार बेटा ठीक होने की उम्मीद […]

महाराष्ट्र में रहने वाले एक परिवार को अंधविश्वास के कारण 7 लाख रुपये गंवाने पड़े। उन्हे 4 कबूतरों की कीमत लगभग 7 लाख रुपये पड़ी। पुणे में एक तांत्रिक ने एक परिवार को ठगकर उनसे पैसे लिए। घटना की शिकायत अब पुलिस स्टेशन में पहुंच गई है। शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे धकेल दिया है। यह घटना पुणे के कोंढवा इलाके में रहने वाले एक परिवार के साथ घटी। कहा जाता है कि पीडि़त परिवार अपने एक परिवार के सदस्य की बीमारी से बहुत परेशान था। बीमारी के लिए सभी उपचार के बावजूद बीमार बेटे को कहीं से कोई राहत नहीं मिली। परिवार तब किसी के जरिये तांत्रिक कुतुबुद्दीन नजम से मिलने पहुंचा। आरोपी तांत्रिक कुतुबुद्दीन ने परिवार को बताया कि किसी ने आपके बेटे पर काला जादू किया है, जिससे मौत हो सकती है। मौत के डर बताकर बाबा ने पीडि़त परिवार से 6 लाख 80 हजार रुपये का कबूतर खरीदने को कहा। यानि एक कबूतर 1 लाख 70 हजार रुपये में पड़ा। परिवार खुशी-खुशी से बीमार बेटा ठीक होने की उम्मीद […]

महाराष्ट्र में रहने वाले एक परिवार को अंधविश्वास के कारण 7 लाख रुपये गंवाने पड़े। उन्हे 4 कबूतरों की कीमत लगभग 7 लाख रुपये पड़ी। पुणे में एक तांत्रिक ने एक परिवार को ठगकर उनसे पैसे लिए। घटना की शिकायत अब पुलिस स्टेशन में पहुंच गई है। शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे धकेल दिया है। यह घटना पुणे के कोंढवा इलाके में रहने वाले एक परिवार के साथ घटी। कहा जाता है कि पीडि़त परिवार अपने एक परिवार के सदस्य की बीमारी से बहुत परेशान था।

बीमारी के लिए सभी उपचार के बावजूद बीमार बेटे को कहीं से कोई राहत नहीं मिली। परिवार तब किसी के जरिये तांत्रिक कुतुबुद्दीन नजम से मिलने पहुंचा। आरोपी तांत्रिक कुतुबुद्दीन ने परिवार को बताया कि किसी ने आपके बेटे पर काला जादू किया है, जिससे मौत हो सकती है। मौत के डर बताकर बाबा ने पीडि़त परिवार से 6 लाख 80 हजार रुपये का कबूतर खरीदने को कहा। यानि एक कबूतर 1 लाख 70 हजार रुपये में पड़ा। परिवार खुशी-खुशी से बीमार बेटा ठीक होने की उम्मीद से इतनी बड़ी रकम खर्च करने के लिए तैयार हो गया।

तांत्रिक कुतबुद्दी ने पीडि़त परिवार को बताया कि कबूतर खरीदने से उसके बेटे की मृत्यु टल जाएगी और उसके बदले कबूतर मर जाएंगे। इससे परिवार के भीतर अंधविश्वास पैदा हो गया और उसने तुरंत तांत्रिक की बात मानकर उसे पैसे दिए। यद्यपि कई दिन बीत गए पीडि़त परिवार के बेटे के स्वास्थ्य में सुधार नहीं हुआ और जनवरी में भी आधा निकल गया, तो उन्होंने फिर से तांत्रिक से पूछा कि उनके बेटे के स्वास्थ्य में सुधार क्यों नहीं हो रहा है। तांत्रिक गोल-गोल जवाब देता रहा।

तांत्रिक हर बार एक ही बात कहता था इंतजार करो, आखिरकार परिवार की इंतजार करने की क्षमता समाप्त हो गई और फिर उन्होंने पूरी घटना की जानकारी अंधविश्वास निर्मूलन समिति को दी। अंधविश्वास निर्मूलन समिति से जुड़े मिलिंद देशमुख और नंदिनी जाधव तुरंत हरकत में आए। कोंढवा पुलिस स्टेशन में जादू टोना निवारण अधिनियम के तहत एक शिकायत दर्ज की गई थी। पुलिस ने बुधवार को तांत्रिक कुतुबुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया। कुतुबुद्दीन अब 22 जनवरी तक पुलिस हिरासत में है। तांत्रिक के पास से 3 लाख रुपये भी बरामद किए गए हैं। अभी अन्य राशि बरामद होना बाकी है। पुलिस ने यह भी पता लगाने की कोशिश की कि क्या इस तांत्रिक ने अन्य लोगों के साथ भी ठगी तो नही की?