दिल्ली हिंसा पर पहली बार ओवैसी ने तोड़ी चुप्पी, बोले- सेना को..

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में शाहीन बाग में प्रदर्शन किया ही जा रहा था। इसके बाद दिल्ली की कई जगहों पर प्रदर्शन शुरू हो गया। हालांकि यह प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से नहीं हो रहा बल्कि हिंसक रूप ले चुका है। आपको बता दें सीएए का समर्थन करने वाले तथा विरोध करने वाले दो गुट आपस में भिड़ गए और पथराव करने लगे।
एक खबर के मुताबिक दिल्ली हिंसा में अब तक लगभग 9 लोगों के मारे जाने की भी खबर आ रही है। इसी बवाल को लेकर कई राजनीतिक नेताओं ने अपने अलग-अलग बयान दिए हैं। फिलहाल एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने दिल्ली हिंसा को लेकर एक बड़ा बयान दिया।
असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर लिखा, ‘उत्तर पूर्व दिल्ली में हालात बदतर होते जा रहे हैं। अगर प्रधानमंत्री को शांति स्थापित करनी है, तो यहां पर सेना को तैनात कर देना चाहिए। पुलिस अपनी ड्यूटी निभाने में नाकाम रही है और भीड़ के साथ ही मिल गई है। लोगों की जिंदगी बचाने का अब सिर्फ एक ही रास्ता है कि इलाके को आर्मी के हवाले कर दिया जाए।’