दुनिया भर में केवल 112 लोग कर रहे हैं यह नौकरी, जानिए क्या करना पड़ता है काम

अय्यर ने बताया कि इस सर्टिफिकेट के बारे में उन्होंने साल 2010 में पहली बार सुना था। इसके बाद उन्होंने जर्मनी के एक इंस्टीट्यूट डोमेन्स अकादमी , ग्रीस से सर्टिफिकेट कोर्स किया।

किसी जमाने में नौकरियों के लिए कुछ गिने-चुने क्षेत्र ही थे, जिनमें लोग अपना करियर बनाने के बारे में सोचते थे, लेकिन आज स्थिति बदल चुकी है और उदारीकरण का दौर आने के बाद से नौकरियों के कई नए क्षेत्र अस्तित्व में आए हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि एक ऐसा भी प्रोफेशन है, जिसमें दुनियाभर में सिर्फ 112 लोग ही काम करते हैं। यह प्रोफेशन है पानी की टेस्टिंग का। जी हां, जिस तरह से खाना टेस्टिंग या वाइन टेस्टिंग होता है, उसी तरह से अब पानी टेस्टिंग का प्रोफेशन भी सामने आया है।

बता दें कि पानी के टेस्ट भी अलग-अलग होते हैं, जिनमें हल्का, फ्रूटी, वुडी आदि टेस्ट होते हैं। द हिंदू बिजनेस लाइन की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में इस प्रोफेशन में सिर्फ एक व्यक्ति है, जिनका नाम है गणेश अय्यर। गणेश अय्यर देश के इकलौते सर्टिफाइड वाटर टेस्टर हैं। गणेश ने बताया कि आने वाले 5-10 सालों में पानी टेस्टिंग के सेक्टर में काफी डिमांड बढ़ेगी।

<p>गणेश अय्यर के अनुसार, जब वह लोगों को बताते हैं कि वह एक वाटर टेस्टर हैं तो लोग खूब हंसते हैं क्योंकि एक तरफ हमारे देश में पीने के साफ पानी की इतनी कमी है, वहीं दूसरी तरफ मैं एक वाटर टेस्टर हूं! अय्यर ने बताया कि इस सर्टिफिकेट के बारे में उन्होंने साल 2010 में पहली बार सुना था। इसके बाद उन्होंने जर्मनी के एक इंस्टीट्यूट Doemens Academy in Graefelfing, जर्मनी से सर्टिफिकेट कोर्स किया।

गणेश अय्यर के अनुसार, पानी की अलग-अलग पहचान होती है और वह अपने आप यूनिक होता है। इसके फायदे और टेस्ट भी अलग होते हैं। गणेश का कहना है कि आने वाले दिनों में रेस्टोरेंट बिजनेस में इस प्रोफेशन की काफी अहमियत होगी। गणेश अय्यर बेवरेज कंपनी Veen के भारत और भारतीय उपमहाद्वीप के ऑपरेशन निदेशक हैं।