दुल्हन ने फेरे लेने से पहले दूल्हे के सामने रखी ऐसी शर्त, पूरी ना होने पर लौटी बारात

bride(Symbolic photo)

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में दूल्हा मूकबधिर होने पर दूल्हन ने सात फेरे लेने से इंकार कर दिया। दूल्हन की जिद के आगे बारात बैरंग लौट गई। दरअसल, बारात आने के कुछ देर बाद दूल्हन को भनक लग गई थी, जिसने दूल्हे से नाम बुलवाने की शर्त रख दी। इस पर दुल्हन ने फेरे लेने से इंकार कर दिया। उस समय पर ग्रामीणों के समझाने बुझाने के बाद बारात वापस लौट गई। शुक्रवार को दोनों पक्षों के लोगों की गांव में पंचायत हुई। पंचायत में लेनदेन वापस करने को लेकर मारपीट हुई। मामला पुलिस में पहुंच गया है लेकिन पुलिस जानकारी से इंकार कर रही है।   

गुरुवार को चांदपुर थाना क्षेत्र के गांव बुंदरा खुर्द में गुरुवार को एक व्यक्ति बेटी की शादी थी। बारात गांव देवीपुरा से आई थी। बारात की खातिरदारी हुई। बारातियों ने नाश्ता पानी करने के बाद खाना भी खा लिया था। बारात के खाना खाने के बाद दुल्हन को अचानक दूल्हे के मूकबधिर होने की भनक लग गई। फेरे लेने से पहले दुल्हन ने दूल्हे से अपना नाम बुलवाने की शर्त रख दी। इस बात को सुनकर सभी भौचके रह गए। लड़की की जिद के सामने बारातियों और घरातियों के होश उड़ गए। दोनों ओर दुल्हन को मनाने के काफी प्रयास किए गए, लेकिन दुल्हन नहीं मानी। इस बीच लड़की वालों ने बिचौलिये की तलाश शुरू कर दी। मिलने पर बिचौलिये से मारपीट की गई।

बताया जा रहा है कि उस समय तो ग्रामीणों ने समझा-बुझाकर मामला शांत कर दिया। देर शाम बारात बैरंग लौट गई। शुक्रवार को लड़के पक्ष के लोग फिर से लड़की पक्ष के गांव में पहुंचे। इस दौरान गांव में पंचायत हुई। पंचायत में लड़की पक्ष ने शादी में हुए खर्च की मांग रखी। इस पर दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई। बताया जा रहा है कि लड़की के जीजा और लड़के पक्ष के एक व्यक्ति में मारपीट हुई। इसके बाद लोगों ने समझा-बुझाकर दोनों पक्षों को शांत कर दिया।  थाना प्रभारी लव सिरोही ने बताया कि उन्हें दूल्हे के मूक बधिर होने पर बारात लौटने की जानकारी मिली थी, लेकिन इस संबंध में किसी पक्ष की ओर से पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है। पंचायत का कोई मामला उनके संज्ञान में नहीं है।  


फेरे लेने से पहले दूल्हे को पड़ा दौरा, बारात बैरंग लौटी

सात फेरे लेने से पूर्व दूल्हे को मिर्गी का दौरा पड़ गया। घटना से बारात में खलबली मच गई। दूल्हे की हालत बिगड़ने से घबराए लड़की पक्ष ने शादी से मना कर दिया। इसके बाद बारात दुल्हन बगैर बैरंग लौट गई।  मामला बिनावर थाना क्षेत्र के गांव भूरीपुर का है। बरेली जिले के थाना आंवला के गांव कलिया टांडा से गुरुवार रात गांव में बारात आई थी। बारात गांव निवासी गुलाब सिंह के घर आई थी। बताया जाता है, बारात की सभी रस्म अदायगी सकुशल निबट गई थी। शुक्रवार तड़के फेरे की रस्म अदायगी की तैयारी चल रही थी।

इस दौरान दूल्हे को मिर्गी का दौरा पड़ गया। वह कंपकपाते हुए बेहोश हो गया। दूल्हे के बेहोश होने से बारात में सन्नाटा छा गया। लोग तरह तरह की चर्चाएं करने लगे। कुछ देर बाद दूल्हे को होश आया तो मिर्गी का दौरा पड़ने की बात गांव में फैल गई। इस पर लड़की के परिजनों ने शादी से इंकार कर दिया। ग्रामीणों के काफी समझाने के बाद भी लड़की पक्ष शादी करने को राजी नहीं हुए, जिसके बाद बारात बैंरग लौट गई। इधर, देर शाम तक दोनों पक्षों का थाना परिसर में बैठकर समझौते के लिए फैसलानामा चला।