दुस्साहस: भरी अदालत से दिन-दहाड़े युवती का अपहरण, पुलिस मूक दर्शक बनी रही, जानें पूरा मामला

स्थानीय अदालत में अपना बयान दर्ज कराने आयी एक युवती को उसके परिजन अदालत परिसर से घसीटते हुए अपने साथ ले गए और उत्तर प्रदेश पुलिस वहां मूक दर्शक बन सिर्फ तमाशा देखती रही. उत्तर प्रदेश पुलिस की अकर्मणयता का यह नजारा पीलीभीत जिले की अदालत परिसर में देखने को मिला. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद हालांकि जिला पुलिस ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं. पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित ने संवाददाताओं को बताया कि सोशल मीडिया पर डाले गये वीडियो में साफ दिख रहा है कि दो लोग युवती को जबरन बाइक पर बैठा रहे हैं. युवती विरोध कर रही है. वीडियो में पुलिसकर्मी भी नजर आ रहे हैं लेकिन कोई भी उन्हें रोकने की कोशिश नहीं कर रहा है. अभी तक पुलिस से जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार थाना मांधोटाडा क्षेत्र की उक्त युवती कुछ दिन पहले अपने प्रेमी के साथ रहने लगी थी. वह आज अदालत में बयान दर्ज कराने आयी थी. अदालत में पहले से मौजूद युवती के परिजन वहां पहुंचे और उसे खींचते हुए बाहर ले गए. टनकपुर हाइवे पर आकर वे युवती को बाइक पर बैठाने लगे. इस बीच एक वकील ने विरोध भी किया लेकिन पुलिसकर्मी जब कुछ नहीं बोले तो बाकी भी तमाशबीन बने देखते रहे. इस बीच परिजन युवती को जबरदस्ती अपने साथ ले गये. एक अधिवक्ता ने इस पूरे मामले का वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर डाल दिया, जिसके बाद एसपी ने पूरे मामले की जांच के आदेश दिया. अधिकारी ने कहा कि वीडियो में दिख रहे पुलिसकर्मियों से स्पष्टीकरण मांगा गया है.