नक़ल रोकने के लिए कर्नाटक के एक स्कूल में टीचर्स ने छात्रों के चेहरे को कार्डबोर्ड बॉक्स से ढका

परीक्षा के दौरान नक़ल रोकने के लिए टीचर तरह-तरह की तरकीब अपनाते हैं, लेकिन छात्र उनसे चार क़दम आगे की सोचते हैं. टीचर्स की हर तरकीब को नाकाम कर कुछ जुगाड़ू छात्र फिर भी नक़ल कर लेते हैं.

बिहार के एक परीक्षा केंद्र का ये दृश्य तो आप सभी को याद ही होगा-

परीक्षा के दौरान नक़ल के मामले में अक्सर छात्र ख़ुद को तुर्रम खां समझते हैं, लेकिन उन्हें नहीं मालूम कि टीचर्स उनसे ज़्यादा स्मार्ट हैं और नक़ल रोकने में उनसे 10 कदम आगे रहते हैं. ऐसा ही एक मामला कर्नाटक के एक कॉलेज में भी देखने को मिला. टीचर ने नक़ल रोकने के लिए बच्चों के साथ कुछ ऐसा किया, जिसे देखने के बाद आप भी हैरान रह जाएंगे.

न्यूज़ 18 के मुताबिक़, कर्नाटक के हावेरी स्थित भगत प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज में परीक्षा के दौरान छात्र नक़ल न कर पायें इसलिए टीचर ने उनके सिर पर गत्ते का बॉक्स डाल दिया. साथ ही बॉक्स में दो छेद कर दिए गए थे ताकि छात्र उसमें से देख कर लिख सकें. कॉलेज प्रशासन की इस हरकत के बाद राज्य सरकार ने कॉलेज को नोटिस जारी कर दिया है.

छात्र नकल न कर पाएं इसलिए कॉलेज ने ये अजीबोग़रीब तरक़ीब अपनाई. परीक्षा में बैठते ही सभी छात्रों को एक-एक गत्ता पकड़ा दिया गया. पहले तो छात्रों को समझ नहीं आया कि इसका करना क्या है. कुछ देर बार शिक्षकों ने गत्ते का बॉक्स बनाकर उसे छात्रों को सिर पर पहनने को कहा. साथ ही आगे की तरफ़ आंखों के पास दो छेद कर दिए गए, ताकि स्टूडेंट्स अपना सवाल देख सकें और उसका जवाब लिख सकें.

मामले की जानकारी देते हुए सार्वजनिक निर्देश विभाग के उप निदेशक एस.एस. पीरजे ने बताया कि ‘हमने स्पष्ट रूप से कॉलेज प्रबंधन को एक लिखित स्पष्टीकरण देने के लिए कहा है और अगर भविष्य में इस तरह की घटना दोहराई जाती है, तो विभाग स्कूल का लाइसेंस रद्द कर देगा.