पाकिस्तान के खिलाफ भारत का अनोखा अविष्कार, बर्बाद हो जाएगा पाकिस्तान

पाकिस्तान अभी भारत के बंदिश से ऊभर भी नहीं पाया था कि भारत अब पाकिस्तान को एक औऱ झटका देने जा रहा है, जिससे पाकिस्तान ही नहीं, पाकिस्तान के मंसूबे भी बर्बाद हो जाएंगे। आपको बता दें कि पाकिस्तान लगातार आतंकी मंसूबे से भारत पर हमला करता रहा है, जिसे भारतीय सैनिक हमेशा नाकाम करते रहे है। लेकिन उस जवाबी कार्रवाई में भारत को भी क्षति होती है। अब इसी क्षति को दूर करने के लिए भारत ने एक ऐसा अविष्कार किया है, जिससे भारत बिना क्षति के ही पाकिस्तान को बर्बाद कर देगा, यानी उसके मंसूबों को।
आपको बता दें कि इन दिनों लखनऊ में चल रहें डिफेंस एक्सपो में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने एक से बढ़कर एक आधुनिक हथियार और डिफेंस व्हीकल को प्रदर्शनी में लगाया है। इन सबके बीच व्हीकल रिसर्च डेवलपमेंट एस्टेब्लिशमेंट (VRDE) ने एयूजीवी नामक एक ऐसा वाहन बनाया है, जो बिना ड्राइवर का चलता है। यह वाहन कई तरह की खुफिया सुविधाओं से लैश है। क्रूश नियंत्रण हर प्रकार बाधा से बचाने में सहायक होगा। डीआरडीओ के वीआरडीई विभाग के तकनीक अधिकारी अभिषेक दुबे ने बताया कि, ‘पुलवामा जैसा हमला दोबारा न हो पाए इसकी सजगता के लिए इसे तैयार किया गया है। रेकी के अलावा इस वाहन में गन भी लगाया जा सकता है, जिससे फायरिंग भी की जा सकती है। चुनौती भरी राह पर योजना बनाना और उसे स्वयं ही नेवीगेट करना इसकी खूबी है। इतना ही नहीं वाहन पर एक ऐसा विशेष सेंसर भी लगा है, जो कि राह पर आने वाली बाधा को भांप कर उसे आसान बनाने में सक्षम है।
उन्होंने बताया कि वाहन करीब 1600 किलो वजन का है। इस वाहन को तीन तरीके से चलाया जा सकता है। एक स्वयं, दूसरा टेली ऑपरेशन, तीसरा स्वायत्त (ऑटोनोमस) तरीके से चलाया जा सकता है। यह वाहन समतल रास्ते पर करीब 25 किमी की रफ्तार पर चल सकता है। वहीं ऑटोमोनस पर 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकता है। इसे बनाने की लागत तकरीबन 3 से 4 करोड़ रुपये है। आपको बता दें कि यह वाहन बिना किसी व्यक्ति के बैठे बिना चलाया जा सकता है। जो हथियारों और गोला बारूद को ले जाने के लिए और आस-पास कोई आतंकी खोज निकालने में वाहन सहायक हो सकता है। बता दें कि डिफेंस एक्सपों में बड़े-बड़े स्टॉल लगाए गए हैं। कहीं डीआरडीओ के स्टॉल में अर्जुन टैंक लगा है तो कहीं टी 2010 का प्रदर्शन है। वहीं कहीं mig-21 बायसन लोगों के सामने होगा। आपको बता दें कि रक्षा मंत्रालय और उत्तर प्रदेश सरकार ने मिलकर इस डिफेंस एक्सपो का आयोजन किया है, जिसमें दुनिया भर के देश शिरकत करने जा रहे हैं। इस लिहाज से यह एक्सपो और भी बड़ा होने जा रहा है, बता दें कि करीब 40 देशों के रक्षा मंत्री राजदूत और कई राष्ट्रों के प्रमुख भी इस डिफेंस एक्सपो में शामिल होंगे।