पाकिस्तान के पूर्व कप्तान का खुलासा, ऋषभ पंत की सैलरी से भी कम पैसा बचा है पीसीबी के पास

 पाकिस्तान के आर्थिक हालात की जानकारी दुनिया भर में है लेकिन हाल ही में एक पूर्व खिलाड़ी ने ऐसा दावा किया है जिसने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की माली हालत की पोल खोल दी है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड इस समय दुनिया भर के देश को अपने घर पर द्विपक्षीय सीरीज खेलने के लिये मना रहा है। इसके 2 कारण है एक तो पाकिस्तान में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हो और इससे होने वाली आय से पीसीबी की हालत को सुधारा जा सके। हालांकि कोशिशों में लगे पीसीबी को कुछ खास बड़ी सफलता नहीं हासिल हो सकी है। इस बीच के पाकिस्तान के दिग्गज खिलाड़ी और पूर्व टेस्ट कप्तान यूनिस खान ने दावा किया है कि पीसीबी के पास भारत के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत की सालाना सैलरी से भी कम पैसे बचे हैं। उल्लेखनीय है कि ऋषभ पंत के बीसीसीआई कॉन्ट्रैक्ट आईपीएल से मिलने वाली सैलरी 8 करोड़ रुपये सालाना है जबकि ओवर ऑल इनकम की बात करें तो उनकी नेट वर्थ 3.5 मिलियन यूएस डॉलर है।

पीसीबी के हाल पर जानें क्या बोले यूनिस खान

यूनिस खान ने एक न्यूज वेबसाइट पाक पैशन डॉट काम से बात करते हुए कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की माली हालत बहुत खराब है, उसके पास मेरे ही 4-6 करोड़ रुपये बाकी है जिसकी मैंने कभी मांग नहीं की। जो बोर्ड किसी खिलाड़ी के 4-6 करोड़ नहीं चुका पा रहा आप समझ सकते हैं कि उसकी क्या हालत होगी। हालांकि बावजूद इसके वह देश के लिये पाकिस्तान क्रिकेट टीम की मदद करने को तैयार हैं और अगर पीसीबी चाहे तो वो टीम को कोचिंग दे सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘जहां तक पैसे की बात है तो अगर वह देखें तो पीसीबी के पास अभी भी मेरा 4-6 करोड़ रुपये बकाया है। लेकिन मैंने कभी भी पैसे की मांग नहीं की है। पैसा कभी भी मुद्दा नहीं रहा है।’

पीसीबी का दावा गलत, कभी भी ज्यादा पैसो की नहीं की मांग

यूनिस खान ने दावा किया वह पाकिस्तान के उन खिलाड़ियों में से एक रहे हैं जो पैसे के नहीं बल्कि देश के लिये खेले हैं। वह देश में इस खेल की भलाई के खातिर काम करने के लिए बोर्ड के साथ जुड़ने को तैयार हैं। यूनिस ने उन खबरों को गलत बताते हुए कहा कि मैंने कभी भी पीसीबी से अपने पैसे नहीं मांगे हैं और न ही कोचिंग के लिये कोई मोटी रकम बताई है। उन्होंने कहा, ‘यह अल्लाह का करम है कि आपको वही मिलती है जोकि आपके नसीब में होता है। मैं कभी पैसों के पीछे नहीं भागा हूं। मैंने हमेशा पीसीबी के साथ काम करने की इच्छा जताई है। मैं उन कुछ खिलाड़ियों में से एक था, जिन्होंने संन्यास लेने के बाद पैसे कि चिंता किए बिना छोड़कर चला गया। मैंने 17-18 साल तक पाकिस्तान और पीसीबी की सेवा की है।’

शोएब अख्तर के दावे के बाद आया यूनिस का बयान

गौरतलब है कि मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका में जारी अंडर-19 विश्व कप के सेमीफाइनल मुकाबले में भारत के हाथों करारी हार झेलने के बाद पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने पीसीबी को जमकर लताड़ा। शोएब अख्तर ने कहा कि पीसीबी अपने दिग्गज खिलाड़ियों का सम्मान करना नहीं जानती। यूनिस खान जैसा दिग्गज खिलाड़ी जब पीसीबी से नौकरी मांगता है तो वो उससे मोल-भाव करते हैं कि 15 लाख की बजाय 10 लाख ले लो। आपको बता दें कि यूनिस खान ने पाकिस्तान के लिए 118 टेस्ट, 265 वनडे और 25 टी-20 मैचों में शिरकत की है इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान के लिये 17790 अंतर्राष्ट्रीय रन बनाये।