प्रयागराजः सेना का जवान बना माफिया, उसके आतंक से भयभीत नागरिक परेशान

विधान केसरी समाचार

 चाका ब्लाक कमला नगर निवासी सेना का यह जवान अरुण गौतम उर्फ़ कमांडो एक और विकाश दुबे कानपुर वाला बनने की राह पर निकल पड़ा है ।कुछ स्थानीय प्रशासनिक अधिकारिओ से साठगांठ कर और राजनैतिक सरक्षण हासिल करके आम लोगो को प्रताड़ित करने का कार्य आये दिन किया करता है जबरन जमीन पर कब्ज़ा करना, राहगीरों से मारपीट करना, खानज वाहक टैक्टर चालको व ट्रक चालको से पुलिस के नाम पर जबरन वसूला करना, कमजोरो से पैसा छीन लेना, आदि कारनामे को वह आये दिन अंजाम किया करता है

कुछ लोगो ने बताया कि अरुण गौतम उर्फ़ कमांडो स्थानीय पुलिस के कुछ अधिकारियो को आये दिन अपने घर बुलाकर आवाभगत करके उनका विश्वाश हासिल कर व कुछ राजनैतिक नेताओ को सेना के रूप में खुद को प्रदर्शित कर सेवा के नाम पर राहगीरों को प्रताड़ित किया करता है जिसकी शिकायत धुरपुर व नैनी थाने में कई बार की गई थी पर स्थानीय पुलिस उसके खिलाफ कार्यवाही करने से गुरेज करती थी आज उसका मनोबल काफी बढ़ गया है उसे किसी प्रशासनिक अधिकारियो से कोई भय नहीं रहा।

मगलवार 4 अगस्त को अरुण गौतम उर्फ़ कमांडो के खिलाफ एक और तहरीर नैनी कोतवाल राम किशोर के पास प्रेषित की गई जिसमे भुक्तभोगी कमलेश भारतीय ने कमांडो व उनके गुर्गे के ऊपर मजदूरो, व टैक्टर चालको से गुंडा टैक्स वसूली, मारपीट करने व जबरन तीन हजार रुपये छिनने का आरोप लगाया है।

मामला नैनी थाना अतर्गत मोहबत गंज गांव की है जहा श्याम बाबु भारतीय, कमलेश भारतीय, व चन्दन भारतीय मजदूरी व टैक्टर चलाने का कार्य किया करते है अन्य कार्य न होने के कारण परिवार का पालन काफी मुश्किलों से हुआ करता है बीते तीन चार दिनों से अरुण गौतम अपने गुर्गो के साथ आकर जबरन गुंडा टैक्स के नाम से पैसा माँगा करता था पैसा न देने पर जाति सूचक गाली गलौज किया करता है विरोध करने पर जान से मरने की घमकी दिया करता है।

भुक्तभोगी श्याम भारतीय ने बताया कि अरुण गौतम उर्फ़ कमांडो अपने चार गुर्गो के साथ आज सुबह मेरे घर पर आया और मुझसे व मेरे लोगो से जबरन पैसे मांगने लगा पैसा देने पर हम सभी को मारने पीटने लगा और जाति सूचक गाली देते हुए जान से मरने की घमकी दी उस दौरान तीन हजार रुपये मुझसे छीन लिया जिससे हम सभी काफी भयभीत है।

भुक्तभोगी ने इस घटना की जानकारी नैनी कोतवाल राम किशोर को तहरीर देकर की है अब स्थानीय पुलिस क्या कार्यवाही करती है वह आने वाला समय बताएगा।

अरुण गौतम उर्फ़ कमांडो के आतंक के कारनामे अनगिनत है जिसमे स्थानीय ग्राम प्रधान सरोज तिवारी भी पीड़ित है ग्राम प्रधान के द्वारा विकसित कालोनी कमला नगर को अपने नाम कमांडो नगर कर दिया था जिसमे ग्राम प्रधाम के दखल के बाद काफी जद्दोजहद से पुन्हा कमला नगर के नाम से उसे स्थापित किया जा सका इसी प्रकार सपा नेता सिव यादव के द्वारा अबैध वसूली की एक आडियो किलिप शोशल मिडिया में वाइरल कर दिया गया था उसके खिलाफ कई फर्जी मुकदमे दर्ज करा दिए गए पर इसके खिलाफ स्थानीय पुलिस कोई कार्यवाही नहीं की।

इसी क्रम में घटनाएँ संपादक संतोष कुमार को अपने घर बुलाकर मय गुर्गो के साथ उनको मारापिटा व गोली चलाकर सोने की चैन व वाहन की चाभी छिनने चाही और कुछ दस्तावेज़ पर संपादक से हस्ताक्षर करवा लिए गए जिसकी शिकायत उन्होंने आलाधिकारी के साथ स्थानीय थाने में भी की गई पर इसमे भी कोई कार्यवाही नहीं हुई। अब देखने वाली बात यह है कि क्या स्थानीय पुलिस ऐसे अपराधी के खिलाफ कोई सख्त कार्यवाही करती है की नहीं,, या एक और विकाश दुबे बनाने हेतु उसे प्रोसाहित कर रही है