प्रवासी मजदूर महिला ने आत्महत्या कर ली क्योंकि बीमार थी और पैसे नहीं थे

प्रवासी मजदूर महिला ने कुएं में कूदकर आत्महत्या कर ली

लापुंग : प्रवासी मजदूर महिला ने  क्षेत्र के सापुकेरा पंचायत के घर गरई गांव

में आत्महत्या कर ली। इस प्रवासी महिला मजदूर 23 वर्षीय लक्ष्मी देवी पति जेठू स्वांसी

पता ग्राम गरई थाना लापुंग बताया गया है। घटना सोमवार की शाम की है । परिवार के

सदस्यों ने बताया कि किसी तरह का उससे किसी का कोई लड़ाई झगड़ा नही था।सापुकेरा

पंचायत मुखिया जयंत बरला के समक्ष मृतका के पिता लौवा स्वांसी गांव बिनगांव (कर्रा)

ने अपनी पुत्री की कुआं में कूद कर आत्महत्या करने के संदर्भ में उसके ससुराल वालों के

खिलाफ कोई आरोप नहीं लगाया । उन्होंने कहा कि इस घटना पर उन्हें अपने दामाद जेठू

स्वांसी एवम उसके परिवार पर किसी तरह का कोई शक या शंका नहीं है। परिवार वालों ने

पोस्टमार्टम कराने में असमर्थता जताते हुए सादा कागज लिख दिया। घटना के संदर्भ में

मिली जानकारी के अनुसार तीन अगस्त को शाम को गुलगुला बनाकर बेच रहा था उसी

समय उसकी पत्नी लक्ष्मी 4:45 बजे देर शाम वहां से बिना कहे निकली और बहुत

खोजबीन के बाद एक सिंचाई कूप के सामने उसकी चप्पल दिखाई पड़ी उसी के आधार पर

झगड़ लगाया गया और तब कुएं के नीचे सतह पर अटकी लक्ष्मी के  को पानी के ऊपर

लाया गया ।

प्रवासी महिला मजदूर की लाश को दफना भी दिया गया

लोगों के सहयोग से लाश को पानी से बाहर निकाला एवं परिजन लाश को बगैर

पोस्टमार्टम के लाश दफनाने की प्रक्रिया पूरी की गई । लक्ष्मी ने अपने एक वर्षीय पुत्र

कबीर स्वांसी को छोड़ कर अपनी इहलीला समाप्त कर ली । प्राप्त जानकारी के अनुसार

वह प्रवासी मजदूर थीं और मजदूरी करने झारखंड से बाहर ईंटभट्ठा गए थे। दोनो पति

पत्नी काम करने बाहर गई थे । लौटने के बाद उन्हें काम नही मिला । उसके पास न लाल

कार्ड था और न जॉब कार्ड था। मृतका कुछ दिनों से बीमार चल रही थी