फर्क बहुत है तेरी और मेरी तालीम में, तूने उस्तादों से सीखा है और मैंने हालातों से…

अपने पड़ौसी भिक्षुक से आग मत माँग, उसकी चिमनी से जो धुँआ तू निकलता देखता है, वह लौकिक आग का नहीं बल्कि उसके हृदय में सुलगी हुई दुख की आग का है।

दुनिया में सफलता प्राप्त करना ही बड़ी चीज़ है, उसे प्राप्त करने की महत्वकांक्षा ही इस दुनिया महत्वपूर्ण है, यही सब तरह के उद्योग और तरक्की का कारण है.

आप लम्बी उम्र जी सकते हो अगर आप ये महसूस कर लें की नाखुश रहकर आप ने जो समय बिताया है वह आपने व्यर्थ कर दिया.

दुनिया तो खैर छोड़ के आगे निकल गई,

तुम ने भी इंतज़ार हमारा नहीं किया !!

खामोश क़हक़हों में भी गम देखते रहे,

दुनिया न देख पाई जो हम देखते रहे।

दुनिया से निराली है “नज़ीर” अपनी कहानी

अँगारों से बच निकला हूँ फूलों से जला हूँ.

बाज़ीचा-ए-अतफ़ाल है दुनिया मेरे आगे,

होता है शब्-ओ-रोज़ तमाशा मेरे आगे।