फिक्र है सबको खुद को सही साबित करने की, जैसे ये ज़िंदगी, ज़िंदगी नहीं, कोई इल्जाम है

पता नहीं लोग लाखो खर्च करकेपैसा कमाने के लिए बच्चों कोइंजीनियर, डॉक्टर क्यों बनाते है?जबकि महालक्ष्मी धन वर्षा यन्त्रमात्र 2100 रू में मिलता है।—————
गाँधी जी अपने पिता की चौथी पत्नी के बेटे थेबाबा साहब अपने पिता की चौदहवीं सन्तान थेरविन्द्र नाथ टैगोर भी चौदहवीं सन्तान थेसुभाष चन्द्र बोस 14 सन्तानों में नवें नंबर पर थेविवेकानंद जी 10 सन्तानों में से छठे नंबर पर थेकमबख़्त हम दो हमारे दो के चक्कर में महापुरुष पैदा ही होना बन्द हो गए।—————-