फिल्म इंड्रस्ट्री का ये अभिनेता है अपनी बीवी का गुनहगार, अपनी बीवी के साथ करते थे ज़्यादती

फिल्म जगत में सईद जाफरी का नाम बहुत ही मशहूर है. इन्होने अपनी बेहतरीन एक्टिंग के द्वारा दर्शकों के दिलों में अपनी एक खास जगह बनाई थी. भले ही सईद जाफरी आज इस दुनिया में हमारे साथ मौजूद नहीं है, पर उनके यादगार अभिनय के लिए लोग आज भी उनको भूल नहीं पाएं हैं. वैसे तो बॉलीवुड इंड्रस्ट्री में ऐसे बहुत सारे ऐसे कलाकार मौजुद हैं जिन्होंने अलग अलग तरह से लोगों के दिल में अपनी एक खास जगह बनाई है, पर कुछ कलाकार ऐसे भी हैं जिन्होंने अपने डायलॉग बोलने के तरीके से एक ख़ास मुकाम हासिल किया. इन अभिनेताओं में से एक एक नाम है सईद जाफरी का.सईद जाफरी ने अपने फ़िल्मी करियर में “गांधी” (1982), “शतरंग के खिलाड़ी” (1977), “हिना” (1991) और “राम तेरी गंगा मैली” (1985) जैसी फिल्मों में अपने दमदार अभिनय करके लोगों को अपना फैन बनाया है. आज सईद जाफरी का जन्मदिन है. सईद जाफरी का जन्म पंजाब के मालेरकोटला में हुआ था. भारतीय मूल के ब्रिटिश अभिनेता सईद जाफरी भले ही आज इस दुनिया में मौजूद नहीं हैं, पर उनके द्वारा निभाए किरदार हमेशा लोगों के दिलों में जिंदा रहेंगे.8 जनवरी 1929 को सईद जाफरी का जन्म पंजाब के मालरकोटला में हुआ था. सईद जाफरी की शुरुआती पढ़ाई अलीगढ़ में हुई.
इन्होने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी पढ़ाई की. इसके बाद उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए सईद जाफरी ने सेंट जॉर्ज कॉलेज मैसूर में एडमिशन लिया. अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद सईद जाफरी ने दिल्ली में “यूनिटी थिएटर” नाम की एक थियेटर कंपनी खोली और बहुत सारे नाटकों का सक्सेसफुल मंचन किया. सईद जाफरी ने कई सालों तक दिल्ली ऑल इंडिया रेडियो में भी काम किया. यहीं से सईद जाफरी के फिल्मी कॅरियर के सफर की शुरआत हुई. उन्होंने बहुत सारी हिंदी और हॉलीवुड की फिल्मों में काम किया. भले ही कई फिल्मो में उनका रोल बहुत छोटा रहा हो या फिर उन्हें कम स्क्रीन मिली हों, पर अपनी हर फिल्म में सईद जाफरी अपनी मौजूदगी से फिल्म में वजन डाल देते थे.सईद जाफरी की निजी ज़िंदगी कुछ अच्छी नहीं चल रही थी. एक इंटरव्यू के दौरान सईद जाफरी ने खुद बताया था की वो अपनी शादीशुदा ज़िंदगी से खुश नही हैं और अपनी शादी के सफल ना होने के वो खुद दोषी है. इंटरव्यू में सईद जाफरी ने बताया कि उनकी पत्नी का नाम महरुनिमा उर्फ़ मधुर जाफरी था. वो अपनी पत्नी के साथ बहुत ज़्यादती करते थे. उन्होंने कभी भी अपनी पत्नी को वो आज़ादी नहीं दी जिसकी वो हकदार थीं.वो हमेशा अपनी पत्नी को बंन्धन में रखते थे. सईद ने बताया कि उनकी इच्छा थी उनकी पत्नी थोड़ी मॉडर्न बने पर ऐसा नहीं हो पाया जिसकी वजह से वो अपनी पत्नी से धीरे धीरे दूर होने लगे. एक समय ऐसा आया जब दोनों अलग हो गए. अपनी पत्नी से अलग होने के बहुत सालों के बाद उन्हें पता चला कि उनकी पत्नी एक बहुत बड़ी शेफ बन चुकी हैं.