बिमारियों को दूर करने के लिए शरीर में लगाई जा रही आग, ऐसे हो रहा इलाज

दवाइयों या जड़ी-बूटियों से आप बीमारियों का इलाज करते हैं. ऐसे डॉक्टरों को देखा होगा, लेकिन क्या कभी आपने शरीर में आग लगाकर बीमारियों का इलाज करते किसी को देखा है? आज हम आपको ऐसी थेरेपी के बारे में बता रहे हैं जहां शरीर में आग लगा कर इसका इलाज करा जाता है. जानकर हैरानी होगी कि चीन में कुछ ऐसा ही होता है. ये एक ऐसी विधा है, जो पिछले 100 से भी ज्यादा सालों से चीन में इस्तेमाल हो रही है. आइये जानते हैं इसके बारे में. 

चीन में जो थेरेपी अपने जा रही है उसे ‘फायर थेरेपी’ कहा जाता है. चीन में कई बीमारियों के इलाज के लिए फायर थेरेपी अपनाई जाती है. इस विधि से लोगों का इलाज करने वाले ‘झांग फेंगाओ’ अपने काम के लिए काफी लोकप्रिय हैं. इसी थेरेपी से उन्होंने कई लोगों को ठीक किया है. वहीं चीन में कुछ लोग फायर थेरेपी को खास तरह का इलाज मानते हैं, जिससे तनाव, अवसाद, बदहजमी और बांझपन से लेकर कैंसर तक का इलाज संभव माना जाता है. यानि अगर आप इस थेरेपी को अपनाते हैं तो आपके लिए फायदेमंद हो सकती है. 

झांग फेंगाओ के बारे में बता दें, ये बीजिंग के एक छोटे से अपार्टमेंट में इस अनोखे तरीके से लोगों का इलाज करते हैं. एक वेबसाइट के मुताबिक, पहले मरीज की पीठ पर जड़ी बूटियों से बना एक लेप लगाया जाता है और फिर उसे एक तौलिये से ढक दिया जाता है. फिर उस पर पानी और अल्कोहल का छिड़काव किया जाता है और मरीज के शरीर में आग लगा दिया जाता है. फेंगाओ बीमारियों का इलाज ऐसे ही करते हैं. 

दरअसल, इलाज का यह तरीका चीन की प्राचीन मान्यताओं पर आधारित है, जिसके अनुसार शरीर में गर्मी और ठंडक के बीच सामंजस्य बिठाने पर जोर दिया गया है. झांग फेंगाओ के मुताबिक, शरीर की ऊपरी सतह को गर्म करके अंदर की ठंडक दूर की जाती है. झांग फेंगाओ का कहना है कि कई बार लोगों को चोट भी आई है, कई बार मरीज के चेहरे और शरीर के दूसरे हिस्से थोड़े जल भी गए, लेकिन यह सही तरीकों की कमी की वजह से हुआ. मैंने हजारों लोगों को फायर थेरेपी सिखायी है, लेकिन कभी कोई हादसा नहीं हुआ.