बूंद-बूंद पानी को तरसेंगे ये 5 शहर – No.1 पर है भारत का शहर जिसका नाम सुनकर यकीन नहीं होगा

आज के समय में लगभग पूरी दुनिया पानी के लिए संघर कर रही है। आने वाले वक्त में दुनिया के कई देशों में पानी की कमी होने वाली है। आज हम आपको दुनिया की 5 ऐसी शहरों के बारे में बताने जा रहे है जो आने वाले समय मे बूंद बूंद पानी को तरसेगा।

5) मैक्सिको सिटी – मैक्सिको दुनिया का 5वां ऐसा देश है जो आने वाले समय में पानी के लिए तरस सकता है । आने वाले समय में मेक्सिको में पानी की भारी कमी होने वाली है। हर पांच में से एक व्यक्ति को बस कुछ घंटों के लिए ही पानी की सप्लाई मिलती है। शहर की मात्र 20 फीसदी जनता को दिन के कुछ वक्त पानी मिलता है।

4) लंदन – लंदन दुनिया का चौथा ऐसा शहर है जो आने वाले समय में भारी पानी की समस्या का सामना करेगा ।लंदन में सालाना 600 मिलीमीटर तक बारिश होती है जो कि पेरिस और न्यूयॉर्क से कम है। शहर की जरूरत का 80 फीसदी पानी नदियों से आता है। ग्रेटर लंदन को अधिकारियों का कहना है कि शहर की क्षमता लगभग पूरी हो गयी है और साल 2025 तक यहां पानी की गम्भीर समस्या दिखने लगेगी।

3) टोक्यो – टोक्यो जापान की राजधानी है जो जापान का सबसे बड़ा शहर माना जाता है। आने वाले समय में टोक्यो में भारी पानी की समस्या का सामना करना पड़ेगा । बारिश के पानी को अगर जमा करके नही रखा गया तो कम बारिश होने वाले सालों में बड़ी मुश्किल हो सकती है। समस्या के हल के रूप में अधिकारियों ने शहर के 750 सार्वजनिक और निजी इमारतों पर रेन हार्वेस्टिंग यानी बारिश का पानी जमा करने की व्यवस्था करवाई है।

2) बीजिंग – दूसरा ऐसा शहर है जो आने वाले समय में पानी की समस्या का सामना करेगा । बीजिंग चीन की राजधानी है, बीजिंग चीन का बड़ा शहर माना जाता है । 2015 में जारी किए गए अधिकारी आंकड़ों के अनुसार बीजिंग में पानी इतना प्रदूषित है कि ये खेती में इस्तेमाल करने लायक भी नही है। दुनिया की आबादी का 20 फीसदी हिस्सा चीन में है, लेकिन दुनिया के मीठे पानी का मात्र 7 फीसदी हिस्सा ही यहां है।

1) बेंगलुरु – बेंगलुरु भारत का एक शहर है जो कर्नाटक की राजधानी है। यह दुनिया का पहला ऐसा शहर है जो आने वाले समय में पानी की बड़ी समस्या का सामना करेगा । जांच के अनुसार शहर की झीलों का 85 फीसदी पानी केवल सिंचाई के लिए या फैक्ट्री में इस्तेमाल करने लायक है, लेकिन पीने लाइक नही है।