बेटी ने की थी इंटरकास्ट मैरिज, इतने साल बाद भी घरवालों ने नहीं छोड़ा दामाद को..

बेटी ने की

बेटी ने की थी इंटरकास्ट मैरिज, इतने साल बाद भी घरवालों ने नहीं छोड़ा दामाद को..

दामाद को दौड़ा-दौड़ाकर मारा और फिर कर दी हत्या..

देश-विदेश : उत्तर प्रदेश के अमेठी से एक दिल दहला देने वाला वारदात सामने आया है. यहां पर एक बेटी को प्यार करने की इतनी बड़ी सजा मिली कि उसका पूरा परिवार बर्बाद ही कर दिया. उसकी जिंदगी किसी और ने नहीं, बल्कि उसके ही घरवालों ने उजाड़ कर रख दी.

बेटी के घरवालों को मंजूर नहीं थी यह शादी..

दरअसल, कुछ साल पहले करौंदी गांव का रहने वाला सुधीर श्रीवास्तव को मौडली गांव की एक लक्ष्मी नाम की लड़की से प्यार हो गया. लेकिन उससे शादी करना बहुत मुश्किल था, क्योंकि लड़की का पूरा नाम लक्ष्मी मिश्रा था. दोनों के परिवार वाले इसके लिए राजी नहीं थे. हालांकि दोनों ने मिलकर अपने घरवालों को समझाने की कोशिश की और कई सालों के जतन के बाद दोनों ने 6 साल पहले शादी कर ली थी. 6 साल तक तो उनका जीवन हंसी-खुशी बीता, लेकिन लड़की के घरवाले उनकी खुशहाल जिंदगी में ग्रहण बन कर आ गए थे, और कुछ ऐसा किया कि एक पल में दंपति की बसाई दुनिया ही उजाड़ दी.

घर आते समय बीच रास्ते में सुधीर की हत्या..

करीब 6 साल पहले इंटरकास्ट मैरिज करने की वजह से बीती रात सुधीर श्रीवास्तव की हत्या कर दी गई है. 6 साल बाद बदले की आग में सुलग रहे लड़की के परिवार वालों ने गोलियों से भूनकर उसे मौत के घाट उतार दिए. इस वारदात के बाद जिले की कानून व्यवस्था एक बार फिर सवालों के घेरे में आ गई. वहीं, एक मासूम के सिर से पिता का साया उठ गया है, जिससे परिवार में कोहराम मचा हुआ है.

भाई ने सीएम से की सख्त कार्रवाई की मांग..

घटना अमेठी कोतवाली के हथियाकला गांव की है. मृतक सुधीर के भाई दिलीप श्रीवास्तव ने बताया कि वह काम से घर लौट रहा था कि तभी उसकी गाड़ी पर टक्कर मारकर पहले उसे गिराया गया. फिर दौड़ा-दौड़ा कर मारा गया. जब सुधीर जान बचाकर भागने लगा, तभी उसे गोली मार दी गई. मृतक के भाई ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग की है कि निष्पक्ष जांच कराकर दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए.

पैसे देकर करवाई गई है हत्या..

वहीं, मृतक के जीजा श्रीकांत श्रीवास्तव ने बताया कि सुधीर ने आशीष मिश्रा की बहन से शादी की थी. लड़की के घरवाले कभी भी इस शादी से खुश नहीं थे. 2-4 बार उसे जान से मारने की धमकियां भी मिली थीं, लेकिन 6 साल से सब शांत ही था. लड़की के पिता कामता प्रसाद मिश्रा अभी रिटायर हुए हैं. श्रीकांत श्रीवास्तव का कहना है कि मिश्रा परिवार ने ही पैसे देकर सुधीर की हत्या करवाई है.

आरोपियों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई..

एडिशनल एसपी दयाराम ने जानकारी दी है कि मृतक के जीजा की तहरीर पर केस दर्ज कर लिया गया है. तहरीर में कहा गया है कि आशीष मिश्रा और एक अज्ञात ने उसकी पिटाई की फिर गोली मार दी. कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर अमेठी में उसको भर्ती कराया गया, जहां उसकी मृत्यु हो गई. इस संबंध में पता चला है कि आशीष मिश्रा की बहन लक्ष्मी से मृतक ने प्रेम विवाह किया था. इससे उसके घर वाले संतुष्ट नहीं थे, जिसके कारण उन्होंने घटना को अंजाम दे दिया.