बॉलीवुड सितारों ने दिल्ली में हो रहे उत्पात पर दिए रिएक्शन, कहा- जब तक CAA समर्थकों ने…

बॉलीवुड सितारों ने दिल्ली में हो रहे उत्पात पर दिए रिएक्शन, कहा- जब तक CAA समर्थकों ने…

दिल्ली के मौजपुर और भजनपुरा इलाके में नागरिकता कानून को लेकर ऐसी हिंसा भड़की हुई है। सोशल मीडिया पर इस हिंसा के खिलाफ लोग अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। बॉलीवुड हस्तियों ने भी इसकी निंदा की। बॉलीवुड सितारे लगातार इन हालात को लेकर ट्वीट कर रहे हैं।
बॉलीवुड के मशहूर फिल्ममेकर अनुराग कश्यप ने लिखा, इतना तो आज साफ है कि CAA के समर्थन का मतलब एन्टी-मुस्लिम है बस और कुछ नहीं।
स्वरा भास्कर ने लिखा, हम दरिन्दे वैहशी बन गए हैं! इस सत्य से अब मुंह नहीं मोड़ा जा सकता! दिल्ली पुलिस वर्दी ना सही – इंसानियत के नाते ही रोक लेते या ख़ुद को अमानवीय मान लिया है?? गृहमंत्रालय गुड मॉर्निंग! क्या इस लाचार आदमी की जान बची या एक और निहत्था नरभक्षि भीड़ के हाथों मारा गया??
ऋचा चड्ढा ने लिखा, कभी भी सीएए समर्थक रैलियों, प्रदर्शनकारियों की आवश्यकता नहीं थी, क्योंकि यह एक गतिविधि है। वे मंजूरी के साथ उत्पीड़न और मारने के लिए बाहर हैं। इन आदमियों को पहचानिए, यहाँ अपने शापों को निर्देशित कीजिए।
जावेद अख्तर ने लिखा, दिल्ली में हिंसा के स्तर को बढ़ाया जा रहा है। सभी कपिल मिश्रा को बेपर्दा किया जा रहा है। एक औसत दिल्लीवासी को यह समझाने के लिए माहौल बनाया जा रहा है कि यह सब सीएए के विरोध के कारण है और कुछ दिनों में दिल्ली पुलिस “अंतिम समाधान” के लिए जाएगी।
सुशांत सिंह ने एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा, आत्मा मर चुकी है देश की। इस विडीओ से कहीं ज़्यादा शर्मनाक ये है कि एक बहुत बड़ी भीड़ इसे देख ख़ुशी से पागल हुई जा रही है। ख़त्म कर दिया है देश को।
जावेद जाफरी ने लिखा, दिल्ली के जाफराबाद में सेना की वर्दी में घूम रहे लोग, सेना ने कहा हमारे लोग नहीं है एक्शन लेंगे।
विशाल ददलानी ने लिखा, एंटी-सीएए प्रदर्शनकारी 2 महीने से विरोध कर रहे हैं। जब तक तथाकथित “CAA-समर्थक” समूहों ने हुड़दंग नहीं दिखाया तब तक कोई हिंसा नहीं हुई। सोचो!
कोएना मित्रा ने लिखा, शर्म की बात है! क्या वे अब भी आजाद घूम रहे हैं? उन्होंने एक पुलिस वाले को मार डाला, भारत की राजधानी को जला दिया, आगे क्या है?
बता दें कि सोमवार दोपहर समर्थकों और विरोधियों के बीच हुई झड़प को देखते हुए राजधानी के 10 जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। पुलिस ने बताया कि यह सारी घटनाएं छह से आठ किलोमीटर के क्षेत्र के अंदर हुई हैं। गृह सचिव अजय भल्ला ने जानकारी दी है कि अब हालात काबू में हैं। घटनास्थल पर एक हजार से ज्यादा लोगों का इकट्ठा होना इस बात की ओर इशारा करता है कि यह सुनियोजित साजिश थी।