भारत की इसरो और पाकिस्तान की सुपारको, इन 7 तस्वीरों में देखिए दोनों में कौन बेहतर है

इसरो का नाम कौन नहीं जानता। जहाँ इसरो का नाम पूरी दुनिया को पता है। वही दुसरी ओर पाकिस्तान की सुपारको को बहुत कम लोग ही जानते हैं। हो सकता है आप भी पाकिस्तान की सुपारको का नाम पहली बार सुन रहे हो। पाकिस्तान की सुपारको की स्थापना इसरो से पहले हुई थी। लेकिन फिर भी कुछ खास नहीं कर पाया। आज हम आपको कुछ ऐसी ही तस्वीरें दिखाने वाले हैं जिनमें देखिए इसरो और सुपारको में कौन बेहतर है।

1. भारत की इसरो डॉक्टर विक्रम साराभाई की देन है। पाकिस्तान की सुपारको डॉक्टर अब्दुस सलाम की देन है।

2. दुनिया में टॉप स्पेस एजेंसी के मामले में इसरो 5 वीं रैंक रखता है और सुपारको का अता पता ही नहीं है।

3. इसरो ने अब तक 239 सेटेलाईट लांच किए है और सुपारको ने अब तक 6 सेटेलाईट ही लांच किए है।

4. इसरो ने अपना पहला सेटेलाईट आर्यभट्ट लांच किया था। सुपारको ने अपना पहला रॉकेट रहबर 1 लांच किया था।

5. इसरो ने अपने पहले ही प्रयास में मिशन मंगल में सफलता प्राप्त की। सुपारको ने कुछ नहीं किया।

6. इसरो का बजट 1.8 बिलियन डॉलर है और सुपारको का बजट 43 मिलियन डॉलर है। इसरो का बजट ज्यादा है।

7. इसरो के फ्यूचर प्लान ज्यादा है जैसे गगनयान, मंगलयान 2, चंद्रयान 3 इत्यादि। सुपारको के कोई खास प्लान नहीं है।