भारत में पासपोर्ट के रंग होते हैं अलग-अलग, जानें हर कलर का मतलब

आपने अक्सर देखा होगा की भारत में लोगों के पासपोर्ट अलग-अलग रंग के होते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा हैं की ऐसा क्यों होता हैं। आज इसी विषय में जानने की कोशिश करेंगे पासपोर्ट के अलग-अलग रंग के बारे में की इसका मतलब क्या होता हैं। तो आइये इसके बारे में जानते हैं विस्तार से।  ब्लू पासपोर्ट: भारत के आम नागरिक को नीले रंग का पासपोर्ट जारी किया जाता है। यह कस्टम, इमिग्रेशन अधिकारियों और विदेशी एजेंसियों को आम नागरिक और सरकारी अधिकारियों के बीच अंतर करने में मदद करता है।
वाइट पासपोर्ट: वाइट पासपोर्ट आधिकारिक काम के लिए विदेश यात्रा करने वाले अधिकारियों के लिए जारी किया जाता है। वाइट पासपोर्ट वाले व्यक्ति को एयरपोर्ट पर कस्टम और इमिग्रेशन अधिकारी अलग तरह से ट्रीट करते हैं। इनको ज्यादा औपचारिकताओं से नहीं गुजरना पड़ता हैं। 
मरून पासपोर्ट: भारतीय राजनयिकों और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों को मरून पासपोर्ट जारी किया जाता है। इस पासपोर्ट वाले व्यक्तियों को विदेश यात्रा पर जाने के लिए वीजा की जरूरत नहीं होती।
ऑरेंज पासपोर्ट: सरकार ने ऑरेंज पासपोर्ट जारी करने की अभी घोषणा की है। इस रंग का पासपोर्ट उन्हें जारी किया जाएगा जिन्होंने 10वीं से आगे पढ़ाई नहीं की है। इस पेज पर धारक के पिता का नाम, स्थायी पता और अन्य महत्वपूर्ण विवरणों का उल्लेख होता होगा।