महाभारत के श्रीकृष्ण अब दिखते हैं ऐसे, पहचान पाने में लोगों को होती है कठिनाई!

आज से कुछ वर्ष पूर्व हम सब रविवार का बेहद ही बेसब्री से इंतजार किया करते थे. इसकी वजह ये हुआ करती थी कि उस दौरान केवल रविवार के दिन ही दूरदर्शन पर हमारे ज्यादातर पसंदीदा धारावाहिक प्रसारित किये जाते थे. किन्तु आज भले ही बचपन जैसा रविवार न आता हो, किन्तु यादें आज भी उतनी ही ताजा है.याद करिए जब रविवार के दिन सम्पूर्ण परिवार एक साथ बैठकर टेलीविज़न पर नजरें गड़ा लेता था. दूरदर्शन पर धुन सुनाई देती थी ‘महाभारत’ तथा जितने समय ये धारावाहिक प्रसारित होता था, मजाल होती थी किसी की जो टीवी के सामने से उठ जाए. विशेषतौर से 90 के दशक में जन्में लोगों के लिए तो बी.आर चोपड़ा की ‘महाभारत’ बेहद ख़ास हुआ करती थी. आज भी ‘मैं समय हूँ’ वाली धुन बचपन की यादों को ताजा कर देती है.
हम बचपन में जिन कलाकारों को देखकर महाभारत का ज्ञान प्राप्त किया करते थे वे कलाकार 31 वर्ष पश्चात बेहद बदल चुके हैं. आज हम आपके साथ इस धारावाहिक में श्रीकृष्ण का रोल अदा करने वाले अभिनेता के संबंध में चर्चा करने जा रहे हैं. बता दें, महाभारत में भगवान श्रीकृष्ण का रोल अभिनेता नीतीश भारद्वाज ने अदा किया था. वर्ष 1988 में बी आर चोपड़ा के टीवी धारावाहिक महाभारत में अभिनय हेतु इन्हें फाइनल किया गया था.
आज से लगभग 31 वर्ष पूर्व टीवी पर बी आर चोपड़ा की महाभारत प्रारभ हुई थी. जिसमे नितीश भारद्वाज ने भगवान श्रीकृष्‍ण का किरदार अदा किया था. बता दें, बी आर चोपड़ा की महाभारत के चर्चित व सफल होने का सबसे अधिक श्रेय यदि किसी कलाकार को जाता है तो वो हैं नीतीश भारद्वाज. क्योंकि इनके अभिनय में सच में भगवान की छवि दिखाई देती थी अतः ये बात भी कही जाती है कि छोटे परदे पर आज तक इनके जैसा श्रीकृष्ण का किरदार कोई और नहीं निभा सका है. इनके दमदार अभिनय कौशल के कारण इनके लाखों प्रशंशक भी बन गए थे और आज भी बदस्तूर बने हुए हैं.
आज भी बड़ी मात्रा में लोग इन्‍हें कृष्ण के नाम से ही बुलाते हैं. महाभारत के पश्चात नीतीश भारद्वाज ने विष्णु पुराण, रामायण जैसी कई अन्य दूसरे धार्मिक धारावाह‍िकों में कार्य किया हुआ है. हिंदी व मराठी उद्योग में अभिनय के अलावा नीतीश राजनीति में भी अपना हाथ आजमा चुके हैं. हालांकि‍ यहां पर उनको उतनी अधिक सफलता प्राप्त नहीं हो सकी.
वर्ष 1996 में वो जमशेदपुर से सांसद भी हुए. इसके पश्चात मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने नीतीश को मध्यप्रदेश पर्यटन निगम के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौपी. राजनीती के पश्चात एक दफा पुनः वो पूर्ण रूप से अभिनय जगत में रम गए. ऋतिक रोशन की फिल्म Mohenjo Daro में भी इन्होने कार्य किया.
बता दें, इनको बचपन से ही अभ‍िनय का बेहद शौक था. इन्होने मुंबई के वेटरनरी कॉलेज से डॉक्टरी की पढ़ाई की है, किन्तु इस पेशे में उनका मन नहीं लगा. इसके पश्चात ही वो वर्ष 1987 से अभ‍िनय जगत में प्रवेश कर गए.
वहीं नि‍जी जीवन में नीतीश ने मोनिषा पाटिल से वर्ष 1991 में पहली शादी की. इसके पश्चात वर्ष 2008 में मध्यप्रदेश कैडर की आईएएस स्मिता गाटे से दूसरी शादी कर ली. आज ये अपने पर‍िवार संग एक हैप्पी मैर‍िज लाइफ जी रहे हैं.