महाभारत युद्ध के बाद योद्धाओं की विधवा औरतों ने किया था यह काम जिसे आप नहीं जानते

आप सभी यह तो जानते ही होंगे कि महाभारत इतिहास के सभी युद्धों में से सबसे भयानक और खतरनाक युद्ध माना जाता है। यह इतिहास का एक मात्र ऐसा युद्ध था जो कई सालों तक चला था।इस युद्ध मे कई शक्तिशाली योद्धाओं ने भाग लिया था। जिनमें से युद्ध के अंत मे कुछ की बचे थे। इस युद्ध मे लाखों लोग मारे गए थे। इस युद्ध से कुरूक्षेत्र की धरती खून से लाल हो गई थी। इतनी ज्यादा संख्या में लोग मारे गए थे। युद्ध की समाप्ति के बाद मारे गए योद्धाओं की पत्नियों के रो- रो कर बुरा हाल था। पृथ्वी पर चारों तरफ दुख का मातम छा गया था।

महाभारत युद्ध के बाद योद्धाओं की विधवा औरतों ने किया था यह काम जिसे आप नहीं जानते

जब भगवान श्रीकृष्ण ने योद्धाओं की पत्नियों की का यह हाल देखा तो भगवान श्रीकृष्ण ने सभी विधवाओं को गंगा नदी के तट पर इकट्ठा होने को कहा और उसके बाद भगवान श्रीकृष्ण ने अपनी दिव्य दृष्टि से उन सभी महिलाओं को उनके पतियों की आत्माओं से मिलवाया और उनके बारे में बताया कि किस तरह से वे स्वर्ग में जीवन यापन कर रहे हैं। और उसके बाद भगवान ने उन सभी आत्माओं को फिर से स्वर्ग में भेज दिया।

इस सब के बाद उन सभी महिलाओं ने भगवान श्रीकृष्ण जी से बहुत आग्रह किया कि उन्हें भी अपने पति के पास स्वर्ग में जाना है। उन सभी महिलाओं के बहुत आग्रह करने पर भगवान श्रीकृष्ण ने उनके इस आग्रह को स्वीकार कर लिया और उन सभी को गंगा नदी में डुबकी लगाने को कहा। उसके बाद उन सभी महिलाओं ने गंगा नदी में डुबकी लगाई जिससे उनके सभी पाप धुल गए उसके बाद वे सभी महिलाएं स्वर्ग लोक को चली गईं।