मुकाम वो चाहिए की जिस दिन भी हारु, उस दिन जीतने वाले से ज्यादा मेरे चर्चे हो

सफलता कभी भी शक्ल और अच्छे हालातों की मोहताज नहीं होती,कठिन परिश्रम करनी पड़ती है पास रहकर भी मंजिल पास नहीं होती।अपने लक्ष्य पर स्वयं विचार करना जीवन में दूसरों के इशारे पर मत चलना,जो करना है करते रहो कभी कभी वो मिल जाता है जिसकी आस नहीं होती।जिंदगी के सफर में इंसान को झूठ भी बोलना पड़ता है और सच में छुपाना पड़ता है,वक्त कभी-कभी लाता है ऐसे मोड़ जिंदगी जीने के लिए हर रास्ता अपनाना पड़ता है।
अच्छे और सभ्य इंसान को भला लोग सुकून से एक पल जीने ही कहां देते हैं अक्सर,अच्छे और शांत लोगों को भी अपने हक के लिए कभी-कभी बुरा बन जाना पड़ता है।हर इंसान के जीवन की पहली शुरुआत हर इंसान को थोड़ा-थोड़ा डराती है,चाहे लाख बार नजरें उठाकर देखो कामयाबी मुश्किलों के पास नजर आती है।इंसान के जीवन में कपड़े और चेहरे हमेशा झूठ पर झूठ बोला करते हैं,जबकि सच्चाई तो यह है साहब की इंसान की असलियत सिर्फ वक्त बताता है।