मूर्ख व्यक्ति के सात लक्षण, जो विदुर नीति में बताए गए हैं, इन्हें जरूर जान लें

महात्मा विदुर जी ने अपनी नीतियों में कई ऐसी महत्वपूर्ण बातें बताई हैं। जो मनुष्य जीवन को सुखमय बना सकती हैं। आज की इस पोस्ट में हम आपको विदुर नीति में बताए मूर्ख व्यक्ति के सात लक्षण बताने जा रहे हैं। जिससे उसकी मूर्खता का पता चलता है।1- जो व्यक्ति बिना ज्ञान के ही हमेशा घमंड में चूर रहता है। तथा बिना परिश्रम किए धनवान बनने की इच्छा रखता है। ऐसा व्यक्ति मूर्ख कहलाता है।2- जो व्यक्ति अपना काम छोड़ दूसरों के कर्तव्य पालन में लगा रहता है। तथा मित्रों के साथ संलग्र रह हमेशा गलत कार्य करता है। तो ऐसा व्यक्ति मूर्ख होता है।3- जो मनुष्य अपनी जरूरत से ज्यादा इच्छा करता है। तथा अपने से शक्तिशाली लोगों से दुश्मनी मोल लेता है। ऐसा व्यक्ति मूर्ख कहलाता है।4- जो मनुष्य अपने शत्रु को मित्र बना लेता है। और अपने मित्रों को छोड़ गलत संगत में रहने लगता है। ऐसा व्यक्ति मूर्ख कहलाता है।5- जो मनुष्य बिना बुलाए ही किसी स्थान पर पहुंच जाता है। तथा अपने आप को ऊंचा दिखाने की कोशिश करता है। ऐसा व्यक्ति मूर्ख कहलाता है।6- जो मनुष्य स्वयं गलती कर दूसरों पर आरोप लगा देता है। और हमेशा अपनी गलतियों को दूसरों पर मढ़ देता है। तो ऐसा व्यक्ति मूर्ख कहलाता है।7- जो मनुष्य पितरों का श्राद्ध नहीं करता तथा अज्ञानी लोगों के प्रति श्रद्धा से भरा रहता है। ऐसा व्यक्ति मूर्ख कहलाता है।