ये गलतियां करने से बचे : घर पर बैठे लोगों को बना सकता है कोरोना अपना शिकार

कोरोना वायरस से आज पूरी दुनिया डरी हुई है, यह वायरस दुनियाभर के लिए खतरा बना हुआ है, आंकड़ों की मानें तो कोरोना वायरस अब तक 300000 से ज्यादा लोगों को संक्रमित कर चुका है, जबकि 16000 से भी ज्यादा लोगों को मौत के घाट उतार चुका है, जबकि इस वायरस के चलते 67 हजार लगभग लोग इस खतरनाक वायरस को मात देते हुए ठीक हो चुके हैं, इसीलिए लोगों को जागरूक करने के लिए दृढ़ता से नियमों का पालन करने के लिए सरकार ने कड़े कदम उठाए हैं|क्योंकि इटली, चीन जैसे अन्य देशों में भी यह वायरस अपना कहर बरसा रहा है, भारते में 470 लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है, जबकि इस बीमारी के चलते 11 लोगों की मौत भी हो चुकी है, देखा जाए तो यह वायरस दुगनी तेजी से लोगों को अपना शिकार बना रहा है, इसलिए इससे बचने के लिए सरकार ने फैसला लिया है लॉक डाउन करने का, आईसीएमआर की माने तो भारत में कोरोना वायरस फरवरी महीने से शुरू होकर 200 दिनों तक अपनी चरम सीमा पर बना रहेगा, इसीलिए इस दौरान बहुत से लोग इस वायरस की चपेट में आ सकते हैं, आशंका जताई जा रही है कि हालात और भी ज्यादा बदतर हो सकते हैं, क्योंकि यह वायरस इसी तरह तेजी से फैलता रहा तो 50 दिनों में दिल्ली के अंदर एक करोड़ मरीज हो सकते हैं, जबकि इस वायरस के चलते शहर के अन्य स्थानों पर भी इसी तरह से लोग संक्रमित हो सकते हैं, इस वायरस से बचने के लिए सामाजिक दूरी बना कर रखना ही सिर्फ एक बचाव है, क्योंकि इससे बचने के लिए अब तक कोई भी टीका या दवा नहीं बनी है|
आईसीएमआर की रिपोर्ट की माने तो इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्ति को या संदिग्ध मरीज को अकेले तथा एकांत में सामाजिक दूरी बनाकर रखना होगा, यानी कि ऐसे में यदि आपके घर में कोई व्यक्ति सर्दी, खांसी, जुकाम या इस वायरस के अटैक से उत्पन्न होने वाले लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, क्योंकि यह वायरस यदि किसी व्यक्ति में पाया जाता है तो वह अपने आसपास के लोगों में इस वायरस को फैला सकता है|
आप अपने पूरे परिवार के साथ घर में बंद हैं और ऐसे में यदि कोई कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति आपके साथ मौजूद है या इसके लक्षण किसी व्यक्ति में दिखाई देते हैं तो ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और अस्पताल जा कर तुरंत ही इसका इलाज कराएं, यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो आप अपने साथ साथ अन्य लोगों को भी इस वायरस से पीड़ित करे सकते है और इसका खामियाजा भारत के रहने वाले हर व्यक्ति को भुगतना पड़ेगा, इसलिए ऐसी गलती जानबूझकर ना करें|