ये लक्षण बताते हैं आपको आने वाला है HEART ATTACK

यह सुनकर हैरत होती है कि एक स्वस्थ मनुष्य को हृदय का दौरा (HEART ATTACK ) पड़ गया, यह कैसे हुआ? इसे मूक आक्रमण (साइलेंट अटैक) कहते है। इसीलिए हम सभी को मशविरा देते है कि 30 वर्ष की आयु के उपरांत स्वास्थ्य परीक्षण की प्रक्रिया को प्रत्येक व्यक्ति ने अपनाना चाहिए।

ह्रदय रोगों के कुछ खास 5 लक्षण-

अचानक सीने में दर्द दिल का दौरा (HEART ATTACK ) पड़ने का संकेत हो सकता है, लेकिन अन्य चेतावनी के संकेत भी काफी मामलों में प्रत्यक्ष होते हैं।
आपको एक या फिर दोनो हाथों, कमर, गर्दन, जबड़े या फिर पेट में दर्द और बेचैनी महसूस हो सकती है।
आपको सांस की तकलीफ, ठंडा पसीना आना, मतली या चक्कर जैसे लक्षण हो सकते हैं।
आपको व्यायाम या अन्य शारीरिक श्रम के दौरान सीने में दर्द हो सकता है जिसे एनजाइना कहते हैं। जो कि जीर्ण कोरोनरी धमनी की बीमारी (सी ए डी) के आम लक्षण हैं।
लगातार सांस टूटने की अत्यधिक तीव्र तकलीफ दिल के दौरे की चेतावनी है। लेकिन हो सकता है यह अन्य हृदय की समस्याओं का संकेत हों।

एक सामान्य आदमी अपने हृदय को किस प्रकार तंदरूस्त रख सकता है उसके लिए कौन से प्रमुख नियम है ?

(1) भोजन- जिसमें कार्बोहाईडे्रट कम हो, प्रोटीन की मात्रा अधिक हो, तेल की मात्रा कम हो।

(2) व्यायाम – कम से कम आधा घंटे सप्ताह में पांच दिन चलना आवश्यक है। साथ ही लिफ्ट कोउपयोग न करें और लम्बे समय की बैठक को टाले।

(3) यदि धूम्रपान करते है तो तुरंत छोड़े।

(4) यदि वजन बढ़ रहा है तो उसे नियंत्रित करें।

(5) ब्लड प्रेशर एव शुगर यदि बढ़ रहा है तो नियंत्रित करें।