ये संकेत है मुंह के कैंसर की निशानी, जानिए इन लोगों को होता है अधिक खतरा…!

 मुंह का कैंसर भारत में आम पाए जाने वाले 3 मुख्य कैंसरों में से एक है तथा इसके बारे में लोगों को जानकारी होना बहुत जरूरी है। ज्यादातर केसों में इसका देर से पता चलता है, जिसके कारण सही इलाज नहीं मिल पाता। मुंह के कैंसर से होने वाली मौतों की दर को गत 3 दशकों से नहीं बदला जा सका है लेकिन अगर इसका पहली स्टेज पर पता लगा लिया जाए तो 80% कैंसर रोगियों को बचाया जा सकता है। इसकी प्राथमिक जांच के बारे में जानकारी की कमी इलाज में देरी के लिए जिम्मेदार है।

सबसे पहले जानिए इन लोगों को होता है अधिक खतरा…

जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है उन्हें मुंह के कैंसर का खतरा अधिक होता है। इसके अलावा जो लोग सही से मुंह की सफाई न करते हैं और मुंह में होने वाली समस्याओं पर ध्यान नहीं देते हैं, उन्हें भी मुंह का कैंसर होने का खतरा अधिक रहता है। वहीं, इस बात को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है कि मुंह के कैंसर का का सबसे ज्यादा खतरा तंबाकू, सिगरेट, ई-सिगरेट, सुपारी और शराब पीने वालों को होता है। इसके अलावा….

-आनुवांशिक
-तंबाकू, सिगरेट, ई-सिगरेट, सुपारी और शराब का सेवन
– किसी खास महामारी वाले क्षेत्र के कारण मुंह का कैंसर होने की संभवाना अधिक हो जाती है।
-एच.पी.वी. वायरस खासतौर पर 16 तथा 18 साल की उम्र तक।
-विटामिन ए की कमी
-सूर्य की किरणों से होंठों का कैंसर
-दांतों की ऊपरी सख्त परत मुंह के भीतरी हिस्से में जख्मों का कारण बनती है जो धीरे-धीरे कैंसर का रूप ले लेता है।

अब जानते हैं कुछ लक्षण…

अगर आपको अपने मुंह के अंदर किसी भी हिस्से में गांठ महसूस हो तो आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए, क्योंकि यह कैंसर की गांठ भी हो सकती है। इसके अलावा…

. मुंह में लाल या सफेद धब्बे होना
. मुंह के जख्मों का ठीन ना होना व खून बहना
. मुंह के अंदर गांठ, सूजन व दर्द
. खाना चबाने या निगलने में परेशानी
. बिना कारण दांतों का हिलना
. लंबे समय से आवाज का दबी रहना
. जीभ व होंठों पर सूई जैसी चुभन महसूस होना
. कान की एक ओर दर्द रहना भी इस कैंसर का इशारा हो सकते हैं।

मुंह के कैंसर का इलाज

एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड स्कैन, एमआरआई स्कैन, सीटी स्कैन, पीईटी स्कैन द्वारा मुंह के कैंसर का पता लगाया जाता है, जिसके बाद डॉक्टर मरीज को सर्जरी करवाने की सलाह देते हैं।

मुंह के कैंसर में क्या खाना चाहिए?

-दिन में कई बार छोटे और स्वस्थ आहार लें। साथ ही गर्म की बजाए ठंडी चीजें खाएं।
-खाने से पहले पानी के साथ कुल्ला जरूर करें।
-रैड मीट से परहेज करें। इसकी बजाए आप चिकन, मछली, अंडे, पनीर या अन्य हाई प्रोटीन फूड्स खाएं।
-डाइट में हरी सब्जियां, फल, नट्स, अंडे, ब्रोकली आदि जैसी हेल्दी चीजें शामिल करें। जंक फूड, प्रोसेस्ड फूड्स और मसालेदार भोजन से दूरी बनाएं।
-अगर आप कीमोथेरपी करवा रहे हैं तो तरल चीजें जैसे – पानी, जूस, सूप, चाय, दूध और जिलेटिन आदि अधिक लें।

मुंह के कैंसर से बचना है तो इन बातों का रखें खास ख्याल

1. जितनी जल्दी हो सके धूम्रपान एवं नशे आदि से दूरी बनाएं।
2. दिन में कम से कम 2-3 बार दांतों व मुंह की अच्छी तरह सफाई करें। हो सके तो एक बार सरसों के तेल में नमक मिक्स करके दांतों को साफ करें। इससे मुंह के कैंसर से बचा जा सकता है।
3. जंक फूड, प्रोसेस्ड फूड, कोल्ड ड्रिंक्स, डिब्बा बन्द चीजों को कम से कम खाएं। इसकी बजाए डाइट में हरी पत्तेदार सब्जियां, मौसमी फल, सलाद, बीन्स और नट्स जैसी हेल्दी चीजें शामिल करें।
4. सूर्य की किरणों के संपर्क में आने से जितना हो सके उतना बचें। जब भी बाहर धूप में जाएं, त्वचा और होठों पर UV-A/B ब्लॉकिंग सनब्लॉक लोशन लगाएं।