राम मंदिर ट्रस्ट का एलान होते ही शिवसेना ने तोड़ी चुप्पी, दिया दमदार बयान

सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर विवाद का निपटारा कुछ समय पहले कर दिया था। इसके साथ ही सरकार को निर्देश दिया था कि मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाया जाए। इसी निर्देश के 87 दिनों के बाद आखिरकार मोदी सरकार ने बड़ा ऐलान कर दिया। पीएम नरेंद्र मोदी ने बुधवार को संसद में राम मंदिर ट्रस्ट का ऐलान कर दिया। ट्रस्ट का ऐलान होते ही शिवसेना ने बड़ी बात कही है । आइए जानें उन्होंने क्या बयान दिया है।
जानें मोदी ने किया क्या ऐलान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को संसद में राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट का ऐलान कर दिया। उन्होंने लोकसभा में बताया कि इसका नाम श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र होगा। इसके साथ ही मोदी ने कहा कि 67.7 एकड़ की अधिग्रहित भूमि भी राम मंदिर निर्माण के ट्रस्ट को दी जाएगी। वहीं उन्होंने अयोध्या मुख्यालय से 18 किमी दूर मुस्लिम पक्ष को भी पांच एकड़ भूमि देने का ऐलान किया।
शिवसेना का बड़ा बयान शिवसेना ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाने के फैसले का स्वागत किया है। शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने बुधवार को कहा कि मंदिर का निर्माण प्राथमिकता है। सावंत ने संसद में आईएएनएस से कहा, ”हम प्रधानमंत्री के फैसले का स्वागत करते हैं। यह बाला साहेब ठाकरे का सपना था। उन्होंने हमेशा इस बात पर जोर दिया था कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए। यहां तक कि लोकसभा चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी लगातार ‘पहले मंदिर, फिर सरकार’ कहा। वह दो बार अयोध्या भी गए और रामलला के दर्शन किए।”सावंत ने यह भी बताया कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री वहां बार-बार जाएंगे। उन्होंने कहा, ”लेकिन सुप्रीम कोर्ट सब से ऊपर है।