राहुल द्रविड़ के जीवन के ये 4 राज बहुत कम लोगों को है मालूम, जानकर आप भी होंगे हैरान

राहुल द्रविड़ को भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे महान खिलाड़ियों में शामिल किया जाता रहा है। द्रविड़ ने अपने टेस्ट और वनडे करियर दोनों में 10 हज़ार से ज्यादा रन बनाए। संन्यास के बाद वो इंडिया अंडर-19 टीम के कोच भी रहे हैं। फ़िलहाल वो NCA में डायरेक्टर का पद संभाल रहे हैं। आज हम आपको द्रविड़ के जीवन के अनसुने किस्सों से रूबरू कराने वाले हैं।

1.इंदौर में हुआ था जन्म

द्रविड़ का जन्म 11 जनवरी 1973 को इंदौर में हुआ था। उनका जन्म एक मराठी परिवार में हुआ था। हालांकि उन्होंने अपने जीवन का ज्यादातर समय कर्नाटक में गुजारा।

2.इसलिए पड़ा था नाम “द वॉल”

द्रविड़ ने एक इंटरव्यू में बताया की उनका नाम द वॉल कैसे पड़ा। उन्होंने बताया की उनकी एक शानदार पारी के बाद एक विदेशी अख़बार में उन्हें हेडलाइन में “द वॉल” कहा गया था। इसके बाद उनका यही नाम पड़ गया।

3.साल 2003 में की थी शादी

द्रविड़ ने साल 2003 में विजेता से शादी की थी, जो की नागपुर में सर्जन का काम कर रही थी। द्रविड़ के 2 बेटे हैं, जिसमें पहले बेटे समित का जन्म 2005 में हुआ था, वहीं दूसरे बेटे अन्वय का जन्म 2009 में हुआ था।

द्रविड़ ने बताया की उनके बेटे उन्हें कॉपी नहीं करते, बल्कि डिविलियर्स की स्टाइल में बल्लेबाजी करना चाहते हैं।

4.लड़कियों के रहे फेवरेट

अपने खेल के दिनों में द्रविड़ को लेकर लड़कियों में खूब दीवानगी रही।

कुछ समय पहले साउथ की अभिनेत्री अनुष्का शेट्टी ने बताया की वो द्रविड़ उनके क्रश थे, और वो उनके प्यार में पड़ गई थी।

द्रविड़ के क्रिकेट करियर में मैदान में भी कई बार उनको बैनर के जरिए शादी के प्रस्ताव मिलते थे।

साल 2004 में उन्हें सबसे आकर्षित खिलाड़ी चुना गया, जिसमें वो युवराज सिंह से आगे रहे।